Code : 1632 74 Hit

वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमलों के अपराधी सऊदी अरब में सेना क्यों भेजें?

9/11 में विमान हाईजैक करने वाले सऊदी थे वह अल क़ायदा , आईएसआईएस हैं यही वहाबी सऊदी अल शबाब जैसे आतंकी संगठन हैं हमारी मुश्किल सऊदी और वहाबी मुसलमान हैं सऊदी अरब ने अमेरिकी विदेश नीति को खरीद लिया है वह हमे खरीद चुका है ।

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार अमरीका के प्रख्यात होसट तथा राष्ट्रपति ट्रम्प के कट्टर समर्थक गेराल्डो रिवेरा ने ट्रम्प के सऊदी अरब अमेरिकी सैनिकों की तैनाती तथा थॉड और पैट्रियट मिसाइल सिस्टम तैनात करने के निर्णय पर आपत्ति जताते हुए कहा कि ९/११ के हमलों के ज़िम्मेदार सऊदी अरब में अमेरिका को अपने सैनिक और मिसाइल सिस्टम तैनात करने की क्या आवश्यकता है ?
याद रहे कि पेंटागन ने कल ही कहा है कि अमेरिका सऊदी अरब में तीन हज़ार अमेरिकी सैनिक तथा थॉड और पैट्रियट मिसाइल सिस्टम तथा दो स्क्वाड्रोन युद्धक विमान तैनात करने की योजना पर काम कर रहा है ।
गेराल्डो रिवेरा ने ट्रम्प प्रशासन के निर्णय पर सवाल उठाते हुए कहा कि हम इस धनवान देश की सुरक्षा के लिए और अधिक सैनिक क्यों भेज रहे हैं जो पहले भी हम पर 9/11 जैसा हमला कर चुके हैं और हमारे पत्रकारों पर अत्याचार करते रहे हैं उसने हमारे पत्रकार को प्रताड़ित कर उसके टुकड़े टुकड़े कर दिए ।
इस से पहले भी गेराल्डो रिवेरा ने सऊदी अरब के खिलाफ मोर्चा लेते हुए कहा था कि इस क्षेत्र में हमारी नीतियां एक दम विपरीत हैं हम ईरान विरोध में हार चुके हैं हमे ईरान से संबंध सुधारना चाहिए 9/11 में विमान हाईजैक करने वाले सऊदी थे वह अल क़ायदा , आईएसआईएस हैं यही वहाबी सऊदी अल शबाब जैसे आतंकी संगठन हैं हमारी मुश्किल सऊदी और वहाबी मुसलमान हैं सऊदी अरब ने अमेरिकी विदेश नीति को खरीद लिया है वह हमे खरीद चुका है ।





......................

0
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम