Code : 1781 63 Hit

ईरान ने दुश्मन की धमकियों को अवसर में बदला, जीतना हमारी आदत बन गया : जनरल सलामी

दुश्मन की ओर से हमारे देश के खिलाफ जो मानसिक और आर्थिक युद्ध छेड़ा गया था वह नाकाम हो गया है आप जैसे संघर्ष करने वाले हो तो देश का भविष्य उज्जवल है हम कठिन रास्तों से मुस्कुराते हुए गुज़र जायेंगे और ऊँचे लक्ष्यों तक पहुँचने में सफल रहेंगे।

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार ईरान की शक्तिशाली सेना आईआरजीसी बल के चीफ मेजर जनरल हुसैन सलामी ने कहा कि हमने दुश्मन की ओर से मिलने वाली हर धमकी को अपने लिए चुनौती के तौर पर लिया और उसे अपने लिए एक अवसर के रूप में बदल दिया।
जनरल सलामी ने तेहरान में सिपाहे हज़रत मोहम्मद रसूलुल्लाह और कुछ संस्थाओं की ओर से 700 डेवलपमेंट और डेप्रिवेशन प्रोजेक्ट का उद्घाटन करते हुए कहा कि हम किसी मोर्चे पर नाकाम नहीं हो सकते यह असंभव है इस मुहिम का हर सिपाही एक महायुद्ध का सिपाही वह महायुद्ध जो हमारे देश की इज़्ज़त और मर्यादा के साथ साथ हमारे देश के खिलाफ छेड़ा गया है ।
दुश्मन की ओर से हमारे देश के खिलाफ जो मानसिक और आर्थिक युद्ध छेड़ा गया था वह नाकाम हो गया है आप जैसे संघर्ष करने वाले हो तो देश का भविष्य उज्जवल है हम कठिन रास्तों से मुस्कुराते हुए गुज़र जायेंगे और ऊँचे लक्ष्यों तक पहुँचने में सफल रहेंगे।
हम दुश्मन को भी बता देना चाहते हैं कि हम तुम्हारी हर धमकी और चैलेंज को अपने लिए अवसर में बदल देंगे हमने हहरना नहीं सीखा और तुम्हे जीत नसीब होने नहीं देंगे।

..................

0
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम