×
×
×

यमन , कभी भी काल के गाल में समा सकती हैं 48 हज़ार गर्भवती महिलाएं

संयुक्त राष्ट्र ने एक बयान जारी करके बताया है कि यमन की 48 हज़ार गर्भवती महिलाओं को बचाने के लिए सन 2020 के अंत तक 59 मिलयन डॅालर की तत्काल ज़रूरत है.

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार सऊदी अरब के अतिक्रमण और बर्बर हमलों की मार झेल रहे यमन में जहाँ के ओर भुखमरी और माहमारी का संकट फैला हैं वहीं यमनी अधिकारी कह चुके हैं कि आले सऊद की ओर से कोरोना संक्रमण फैलाया जाने की प्रबल संभावना है.
 वहीँ संयुक्त राष्ट्र संघ ने एक अन्य संकट से पर्दा उठाते हुए चेतावनी दी है कि यमन में निर्धनता और स्वास्थ्य केन्द्रों के बंद होने की वजह से 48 हज़ार गर्भवती महिलाओं की मौत हो सकती है.
संयुक्त राष्ट्र ने एक बयान जारी करके बताया है कि यमन की 48 हज़ार गर्भवती महिलाओं को बचाने के लिए सन 2020 के अंत तक 59 मिलयन डॅालर की तत्काल ज़रूरत है.
उन्होने कहा कि यमन में कोरोना के फैलाव को रोकने, स्वास्थ्य सेवाएं बहाल करने और यमन के बच्चों और महिलाओं के उपचार के लिए अतिरिक्त 24 मिलयन डॅालर की ज़रूरत है.
उन्होंने कहा कि बचे खुचे स्वास्थ्य केन्द्रों में चलाने के लिए यमन को आर्थिक सहायता की बहुत अधिक ज़रूरत है, याद रहे यमन पर सऊदी अरब 2015 से हमले कर रहा है जिसकी वजह यह यह देश पूरी तरह से तबाह हो चुका है,यमन के नागरिकों के लिए अब  कोरोना सब से बड़ा खतरा बन कर उभरा है.
........

लाइक कीजिए
1
फॉलो अस
नवीनतम