×
×
×

शहीद क़ासिम सुलैमानी की शहादत ने आयतुल्लाह सीस्तानी का दिल खून कर दिया : अल असदी

 सरदार की शहादत के अवसर पर आयतुल्लाह खामनेई को भेजे गए आयतुल्लाह सीस्तानी के शोक संदेश की याद दिलाते हुए कहा कि आयतुल्लाह सीस्तानी ने लिखा था कि "सरदार क़ासिम सुलैमानी की शहादत की खबर हमारे लिए बहुत दर्दनाक थी"। यह कैसी मुसीबत थी जिसने मरजईयत के दिल को रंजीदा कर दिया ?

विलायत पोर्टल : इराक के वरिष्ठ राजनेता और दाइश के विरुद्ध संघर्ष में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले हश्दुश शअबी के पूर्व प्रवक्ता एवं सैन्य कमांडर अहमद असदी ने इराक पार्लियामेंट में शहीद सुलैमानी और अबू मेहदी की पहली बरसी के अवसर पर देश से अमेरिकी सेना की निकासी पर ज़ोर देते हुए कहा कि हम इन शहीदों की राह पर चलते रहेंगे।
दाइश के विरुद्ध संघर्ष के समय हश्दुश शअबी के प्रवक्ता रहे असदी ने कहा कि सरदार क़ासिम सुलैमानी की शहादत बड़ी दर्दनाक घटना थी उन्होंने सरदार की शहादत के अवसर पर आयतुल्लाह खामनेई को भेजे गए आयतुल्लाह सीस्तानी के शोक संदेश की याद दिलाते हुए कहा कि आयतुल्लाह सीस्तानी ने लिखा था कि "सरदार क़ासिम सुलैमानी की शहादत की खबर हमारे लिए बहुत दर्दनाक थी"। यह कैसी मुसीबत थी जिसने मरजईयत के दिल को रंजीदा कर दिया ?
आयतुल्लाह सीस्तानी लोगों की मुश्किलों और उन्हें मौजूद खतरों पर निगाह रखने वाले विनम्र धर्मगुरु हैं उन्होंने सरदार क़ासिम सुलैमानी के लिए कहा था कि देश के खिलाफ इराक के संघर्ष में सरदार सुलैमानी की प्रभावी भूमिका और इस संघर्ष में उनके कष्ट को कभी बुलाया नहीं जा सकता।
हम मरजईयत, शहीदों, मुजाहिदों और और इस देश की जनता तथा देश की अखंडता और भाईचारे का दर्द रखने वालों से कहते हैं कि सिर्फ यही नहीं कि हम अपने शहीदों और दिलेरों की क़ुर्बानी को नहीं भूले हैं बल्कि हम उनके वफादार हैं और जब तक अपने शहीदों के उद्देश्यों और और लक्ष्य को नहीं पा लेते हम उनके मिशन पर लगातार आगे बढ़ते रहेंगे।

.............


लाइक कीजिए
0
फॉलो अस
नवीनतम