Code : 1605 802 Hit

बश्शार असद को आयतुल्लाह ख़ामेनई का अल्टीमेटम, क़ासिम सुलेमानी लेकर गए पैग़ाम

अगर सीरियाई सरकार आम लोगों के जनसंहार को अनदेखा करती है, तो दमिश्क़ को हमसे समर्थन की उम्मीद नहीं रखना चाहिए।

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार सीरिया संकट के शुरू में ही सीरिया में जारी संकट और आम लोगों की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर आयतुल्लाह ख़ामेनई की चिंताओं को व्यक्त करते हुए ईरान के पूर्व विदेश मंत्री अमीर अब्दुल्लाहियान ने कहा कि आम नेताओं के विपरीत आयतुल्लाह ख़ामेनई की निगाहों में सिर्फ सीरिया की रणनीतिक महत्ता ही नहीं थी बल्कि सुप्रीम लीडर को सीरिया की आम जनता की बहुत फ़िक्र थी
आयतुल्लाह ख़ामेनई की नज़र केवल रणनीतिक मामलों और क्षेत्र पर ही नहीं थी, बल्कि उन्हें सीरियाई जनता की सुरक्षा की अधिक चिंता थी। 2011 में जब सीरिया संकट की शुरूआत हुई, तो वरिष्ठ नेता ने जनरल क़ासिम सुलेमानी के हाथों बशार असद को सबसे पहला संदेश यह भेजा कि जाओ और सीरियाई राष्ट्रपति असद से कहो कि सीरिया की जनता हमारे लिए रेड लाइन है, अगर सीरियाई सरकार आम लोगों के जनसंहार को अनदेखा  करती है, तो दमिश्क़ को हमसे समर्थन की उम्मीद नहीं रखना चाहिए।
पूर्व विदेश मंत्री का कहना था कि रणनीतिक दृष्टि से सीरिया का मुद्दा हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण था, लेकिन सुप्रीम लीडर की नज़र आम लोगों की सुरक्षा पर थी और वह किसी भी तरह से आम लोगों की सुरक्षा को नज़र अंदाज़ करने के हक़ में नहीं थे।




..................

0
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम