×
×
×

यूएई ने फिर किया फिलिस्तीन के साथ धोखा, हमास को दी धमकी

महमूद रफत ने दावा करते हुए कहा  था कि अबू धाबी के युवराज मोहम्मद बिन ज़ैद ने ज़ायोनी  सरकार को पेशकश की थी वह यमन युद्ध से अपने भाड़े के हत्यारों को निकालकर ग़ज़्ज़ा भेजने का इच्छुक है ताकि हमास के खिलाफ युद्ध छेड़ा जा सके।

विलायत पोर्टल : इस्राईल के साथ सार्वजनिक संबंधों की घोषणा और उसके बाद अब्राहम समझौता कर फिलिस्तीन समेत पूरी इस्लामी उम्मत की पीठ में छुरा घौंपने वाले संयुक्त अरब अमीरात ने एक बार फिर इस्राईल के साथ युद्धरत फिलिस्तीन की पीठ में खंजर घोंप दिया है।  ज़ायोनी समाचार पत्र ग्लोब्स ने एक रिपोर्ट प्रकाशित करते हुए कहा है कि संयुक्त अरब अमीरात के एक वरिष्ठ अधिकारी ने हमास को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर हमास के मिसाइल हमले जारी रहे तो वह ग़ज़्ज़ा में अपनी संभावित विकास परियोजनाओं को पर काम नहीं करेगा।
 इस्राईल को मान्यता देने के बाद दुनिया भर में हुई किरकिरी और इस्लामी उम्मत में अपनी आबरू बचाने के लिए संयुक्त अरब अमीरात ने ग़ज़्ज़ा में विभिन्न बुनियादी ढांचे के विकास के लिए परियोजना शुरू करने की बात कही थी।  ग्लोब्स की रिपोर्ट के अनुसार अब संयुक्त अरब अमीरात के इस अधिकारी ने कहा है कि हम अभी फिलिस्तीन प्राधिकरण के सहयोग और संयुक्त राष्ट्र की देखरेख में ग़ज़्ज़ा में अपनी परियोजना पर काम करने के इच्छुक हैं।  याद रहे कि संयुक्त अरब अमीरात ने अब तक ग़ज़्ज़ा पर इस्राईल के हमलों पर चुप्पी साधे रखी है यही नहीं बल्कि उसने हमास को धमकी देते हुए कहा कि इस्राईल के खिलाफ उसकी सैन्य कार्रवाई ग़ज़्ज़ा के लोगों की जिंदगी को और कठिन बना देंगी।
याद रहे कि इससे पहले अंतरराष्ट्रीय कानून विशेषज्ञ और यूरोपीय कानून और अंतर्राष्ट्रीय संबंध के अध्यक्ष महमूद रफत ने दावा करते हुए कहा  था कि अबू धाबी के युवराज मोहम्मद बिन ज़ैद ने ज़ायोनी  सरकार को पेशकश की थी वह यमन युद्ध से अपने भाड़े के हत्यारों को निकालकर ग़ज़्ज़ा भेजने का इच्छुक है ताकि हमास के खिलाफ युद्ध छेड़ा जा सके।

.................


लाइक कीजिए
1
फॉलो अस
नवीनतम