×
×
×

सऊदी अरब,कोरोना के खौफ के बीच हज के आमाल शुरू

हज यात्रियों के ना आने के कारण सऊदी अरब को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ेगा। सऊदी हज और उमरह के कारण सालाना लगभग 12 अरब डॉलर का राजस्व प्राप्त होता है।

 विलायत पोर्टल : सऊदी अरब ने इस साल सिर्फ 60000 लोगों को हज की इजाज़त दी है। कोरोना महामारी के कारण सीमित स्तर पर हो रहे हज के आमाल शुरू हो चुके हैं। इस बार सऊदी अरब में रह रहे लोगों में से सिर्फ 60000 लोगों को ही हज की अनुमति दी गई है। इससे पहले ही सऊदी अरब के हज मंत्रालय ने ऐलान करते हुए कहा था कि कोरोना महामारी के फैलने एवं नए वेरिएंट सामने आने के कारण सिर्फ सऊदी अरब में रह रहे लोगों में से 60000 लोगों को हज की अनुमति दी जाएगी। सऊदी हज मंत्रालय ने कहा था कि जो लोग हज करना चाहते हैं उन्हें कोई बीमारी ना हो एवं उनकी आयु सीमा भी 18 से 65 वर्ष के बीच में हो। सऊदी सरकार ने हज करने के इच्छुक लोगों के लिए शर्त लगाते हुए कहा था कि हज करने वाले तमाम लोगों को कोरोना वैक्सीन लेना भी जरूरी है।
सऊदी अरब ने पहली बार हाजियों के लिए स्मार्ट कार्ड जारी किए हैं। हज यात्रियों के लिए होटल आने जाने, टैक्सी एवं एटीएम से भुगतान करने की तमाम सुविधाएं इस कार्ड के माध्यम से मिलेंगी। हज यात्रियों को स्मार्ट कार्ड जारी करने के बारे में बताते हुए मक्का के गवर्नर ने कहा कि इस कार्ड में कई विशेषताएं हैं और इसके माध्यम से हमें हाजियों की स्थिति को समझनें में आसानी रहेगी। साथ ही उनके आने-जाने का समय एवं भटक जाने की स्थिति में उन्हें मंजिल तक पहुंचाने में आसानी होगी। याद रहे कि इस साल फिर हज यात्रा के सीमित होने के कारण सऊदी अरब को भारी आर्थिक नुकसान का सामना करना होगा।
हज के मौसम में तीर्थयात्रियों की संख्या में गिरावट के कारण सऊदी अरब की आय को भारी नुकसान हो रहा है। वर्तमान में कोरोनावायरस और मंदी के साथ-साथ तेल की गिरती कीमतों के कारण सऊदी अरब दोहरे झटके झेल रहा है। हज यात्रियों के ना आने के कारण सऊदी अरब को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ेगा। सऊदी हज और उमरह के कारण सालाना लगभग 12 अरब डॉलर का राजस्व प्राप्त होता है।
.........................


लाइक कीजिए
0
फॉलो अस
नवीनतम