Code : 1816 38 Hit

उलमा यूनियन का कड़ा बयान, सिर्फ ताक़त की ज़बान समझता है अवैध राष्ट्र इस्राईल

अवैध राष्ट्र सिर्फ ताक़त की ज़बान समझता है उसे ऐसे जघन्य अपराधों से रोकने का एकमात्र रास्ता है उसका डटकर सामना करना और ज़बरदस्त प्रतिघात तथा दर्दनाक चोट पहुँचाना ।

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार ग़ज़्ज़ा पर सुबह सवेरे हमला जेहादे इस्लामी मूवमेंट के वरिष्ठ कमांडर अबुल अता और उनकी पत्नी की हत्या करने अवैध राष्ट्र इस्राईल की कड़ी निंदा करते हुए यमन उलमा यूनियन ने कहा है कि अवैध राष्ट्र इस्राईल को प्यारा और मानवता की भाषा समझ में नहीं आता यह अवैध राष्ट्र सिर्फ और सिर्फ ताक़त और शक्ति की ज़बान समझता है ।
यमन उलमा यूनियन ने कहा कि हम अवैध राष्ट्र की इस कायराना हरकत और उसके सहयोगी देशों की चुप्पी की निंदा करते हैं अविगढ़ राष्ट्र से मुक़ाबला का सिर्फ के रास्ता है और वह है इस ज़ायोनी राष्ट्र को संगीन चोट पहुँचाना।
अवैध राष्ट्र सिर्फ ताक़त की ज़बान समझता है उसे ऐसे जघन्य अपराधों से रोकने का एकमात्र रास्ता है उसका डटकर सामना करना और ज़बरदस्त प्रतिघात तथा दर्दनाक चोट पहुँचाना ।
यमन उलमा यूनियन ने कहा कि अगर अरब देशों में इस्राईल से संबंध मधुर करने की होड़ न हो और खाड़ी के अरब देश ज़ायोनी राष्ट्र से संबंध सामान्य न करते तो अवैध राष्ट्र का इतना दुस्साहस न बढ़ता ।
...........................




0
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम