×
×
×

उत्तर कोरिया के खिलाफ अमेरिका को चीन के सहारे की जरूरत

 चीन उत्तर कोरिया का सबसे महत्वपूर्ण कारोबारी साझीदार है। हमें प्योंगयांग को नियंत्रित करने के लिए बीजिंग के समर्थन की जरूरत है।

 विलायत पोर्टल : अमेरिकी विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा है कि अमेरिका को उत्तर कोरिया के खतरे से निपटने के लिए चीन के सहयोग की जरूरत है। रायटर्स  की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका की उप विदेश मंत्री वेंडी शर्मन जापान, दक्षिण कोरिया और मंगोलिया की यात्रा के साथ-साथ उत्तर कोरिया की ओर से अमेरिका को संभावित खतरे को देखते हुए चीन की यात्रा का कार्यक्रम भी बना सकती हैं। कहा जा रहा है कि अपनी संभावित चीन यात्रा के दौरान वेंडी शर्मन उत्तर कोरिया के बढ़ते खतरे का मुकाबला करने के लिए अमेरिका को चीन के व्यापक सहयोग पर चर्चा करेंगी।
मीडिया सूत्रों के अनुसार दोनों देशों के बीच व्यापक आर्थिक सहयोग के बीच दोनों देश विश्व व्यापार एवं मानवाधिकार मुद्दों पर भी चर्चा करेंगे। उत्तर कोरिया का परमाणु कार्यक्रम और इस क्षेत्र में प्योंगयांग की लगातार प्रगति ने अमेरिका की चिंताएं बढ़ा दी हैं। व्हाइट हाउस से ट्रम्प की विदाई और जो बाइडन के कार्यभार संभालने के बाद से उत्तर कोरिया से राजनयिक संबंध स्थापित करने के प्रयासों में वाशिंगटन को कोई सफलता नहीं मिली है। उत्तर कोरिया की ओर से अमेरिका को सकारात्मक जवाब ना मिलने से हताश अमेरिका ने इस समस्या से उबरने के लिए चीन से संपर्क करने का निर्णय लिया है। इस संबंध में व्हाइट हाउस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उत्तर कोरिया को नियंत्रित करने के लिए होने वाली किसी भी कार्रवाई में चीन, जापान और दक्षिण कोरिया जैसे देशों के सहयोग की जरूरत है। चीन उत्तर कोरिया का सबसे महत्वपूर्ण कारोबारी साझीदार है। हमें प्योंगयांग को नियंत्रित करने के लिए बीजिंग के समर्थन की जरूरत है। याद रहे कि हाल के महीनों में वाशिंगटन चीन पर आरोप लगाता रहा है कि वह उत्तर कोरिया पर अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों का उल्लंघन करता रहा है और इस संबंध में अपने दायित्व का पालन नहीं कर रहा है।

.......................


लाइक कीजिए
0
फॉलो अस
नवीनतम