×
×
×

इस्राईल और अरब अमीरात का 25 वर्षीय ख़ुफ़िया गठबंधन

वरिष्ठ ज़ायोनी पत्रकार बराक रविद ने नुसैबा के बयान पर कहा कि इस्राईल और अमीरात के बीच हालाँकि सार्वजनिक रूप से राजनयिक संबंध नहीं हैं लेकिन दोनों देशों के बीच 25 साल से भी अधिक समय से गोपनीय एवं मधुर संबंध हैं. मार्च में अमीरात ने इस्राईल को कोरोना टेस्ट किट भेजे थे मोसाद चीफ ने भी कहा था कि हमे एक अरब देश से मेडिकल सहायता मिली है.

विलायत पोर्टल : इस्राईल और अरब देशों में ऊपरी तौर पर चाहे कैसी भी मतभेद की बातें कही जाती हों लेकिन सच्चाई यह है कि सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात के साथ साथ खाड़ी के अधिकांश अरब देशों के साथ इस्राईल के संबंध बहुत मधुर हैं,और इस बार इस बात को स्पष्ट किया सुरक्षा परिषद् में संयुक्त अरब अमीरात की स्थायी दूत लाना ज़की नुसैबा ने!

जब इस्राईल के एक  बायोलॉजिकल रिसर्च इंस्टिट्यूट ने दावा किया कि वह कोरोना का इलाज ढूंढने के निकट है तो नुसैबा ने अवैध राष्ट्र को मुबारकबाद देते हुए कहा कि अरब अमीरात इस्राईल के साथ मिलकर कोरोना का सामना करने के लिए तैयार है.
वरिष्ठ ज़ायोनी पत्रकार बराक रविद ने नुसैबा के बयान पर कहा कि इस्राईल और अमीरात के बीच हालाँकि सार्वजनिक रूप से राजनयिक संबंध नहीं हैं लेकिन दोनों देशों के बीच 25 साल से भी अधिक समय से गोपनीय एवं मधुर संबंध हैं.
याद रहे कि मार्च में अमीरात ने इस्राईल को कोरोना टेस्ट किट भेजे थे मोसाद चीफ ने भी कहा था कि हमे एक अरब देश से मेडिकल सहायता मिली है.
........

लाइक कीजिए
1
फॉलो अस
नवीनतम