×
×
×

शैख़ ज़कज़ाकी का ज़िंदा बच जाना चमत्कार से कम नहीं, जल्दी इलाज की आवश्यकता

मैं हालाँकि मेडिकल टीम में था लेकिन फिर भी मेरे साथ उनका बर्ताव बहुत बुरा था जेल में हमे चाकू और अन्य हथियारों से निशाना बनाया जाता रहता था कभी सीने तो कभी कांधों और हाथों पर चोट पहुंचाई जाती रहती थी यहाँ तक कि मेरी टीम के चार लोगों की जेल के अंदर ही हत्या कर दी गई।

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार नाइजीरिया के लोकप्रिय सामाजिक कार्यकर्ता तथा इस्लामिक मूवमेंट के नेता शैख़ ज़कज़ाकी के डॉ ने शैख़ ज़कज़ाकी की ज़िन्दगी को चमत्कार बताते हुए कहा कि उनका ज़िंदा बचा रहना किसी चमत्कार से कम नहीं है उन्हें जल्द से जल्द उच्च चिकित्सा की ज़रूरत है ।
शैख़ का इलाज कर रहे डॉ ने कहा कि आयतुल्लाह ज़कज़ाकी को घातक ज़हर दिया गया है उन्हें शीघ्र ही इलाज की ज़रूरत हैं इन सब मुश्किलों के बाद भी शैख़ का जीवित रह जाना एक मोजिज़ा है ।
शैख़ ज़कज़ाकी के निजी चिकित्सक नासिर उम्र साफिर ने कहा कि दिसम्बर 2015 तथा इमाम बारगाह बक़िय्यतुल्लाह पर नाइजीरिया सेना के हमले के बाद से ही शैख़ का स्वास्थय गंभीर संकट में रहा है उन्हें इलाज एक लिए भारत ले जाया गया लेकिन अफ़सोस के उनका इलाज पूरा नहीं हो सका।
उमर नासिर साफिर ने कहा कि शैख़ को इलाज एक बजाय जले में ड़ाल दिया गया ऐसी जेल जहाँ का हर बंदी स्वास्थ्य संकट से जूझता रहा जब मैं उनकी मेडिकल टीम में जेल में था तब भी मैंने देखा कि सेना का बर्ताव शैख़ के साथ बहुत बुरा था, मैं हालाँकि मेडिकल टीम में था लेकिन फिर भी मेरे साथ उनका बर्ताव बहुत बुरा था जेल में हमे चाकू और अन्य हथियारों से निशाना बनाया जाता रहता था कभी सीने तो कभी कांधों और हाथों पर चोट पहुंचाई जाती रहती थी यहाँ तक कि मेरी टीम के चार लोगों की जेल के अंदर ही हत्या कर दी गई।
नासिर साफिर ने कहा कि इतने अत्याचारों के बाद शैख़ ज़कज़ाकी का ज़िंदा रहना एक मोजिज़ा हैं उन्होंने शैख़ के सर का स्कैन दिखाते हुए कहा कि शैख़ के जिस्म में 45 से अधिक  क्रैक्स पाए जाते हैं जिन में से 43 सर में हैं ।
...................

लाइक कीजिए
2
फॉलो अस
नवीनतम
हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई के बया ...

इस्लामी एकता के परिणाम