×
×
×

सऊदी अरब, 40 शिया नौजवानों पर मंडरा रहा है मौत का साया

सऊदी अधिकारियों ने दावा किया है कि संवैधानिक आयु से पहले किसी अपराध में लिप्त रहे लोगों की सजा को रोक दिया गया है लेकिन इन शिया युवकों 2011 में सऊदी अरब में हुए विरोध प्रदर्शनों में भाग लेने के कारण मौत की सजा सुनाई गई है और सऊदी अधिकारी इन युवकों की सजा पर अमल करने की योजना बना रहे हैं।

विलायत पोर्टल : आले सऊद तानाशाही बिना किसी अपराध के सऊदी जेलों में बंद शिया जवानों को मारने की साजिश कर रही है। सऊदी अरब की एक साइट ने रहस्योद्घाटन किया है कि सऊदी अरब में 40 से अधिक शिया युवकों की जान को खतरा है। सऊदी अधिकारी इन शिया जवानों को मौत की सजा देने की योजना पर काम कर रहे हैं।
सऊदी लीक्स की रिपोर्ट के अनुसार हालांकि सऊदी अधिकारियों ने दावा किया है कि संवैधानिक आयु से पहले किसी अपराध में लिप्त रहे लोगों की सजा को रोक दिया गया है लेकिन इन शिया युवकों 2011 में सऊदी अरब में हुए विरोध प्रदर्शनों में भाग लेने के कारण मौत की सजा सुनाई गई है और सऊदी अधिकारी इन युवकों की सजा पर अमल करने की योजना बना रहे हैं।
याद रहे कि अभी कुछ दिन पहले ही सऊदी सरकार ने 26 वर्षीय मुस्तफ़ा बिन हाशिम बिन ईसा आले दरवेश को मृत्यु दंड दिया है। वह 2011 में वह सऊदी सरकार विरोधी प्रदर्शन में शामिल थे। एमनेस्टी इंटरनेशनल ने कहा है कि मुस्तफा बिन हाशिम आले दरवेश से जबरन अपराधों को स्वीकार कराया गया था।
याद रहे कि सऊदी अरब में शिया समुदाय के साथ-साथ फिलिस्तीन मूल के 160 से अधिक लोगों को बंदी बनाया गया है जिन पर कोई आरोप साबित है ना ही उनका कोई अपराधिक रिकॉर्ड है।
....................

लाइक कीजिए
0
फॉलो अस
नवीनतम