×
×
×

आयतुल्लाह ख़ामेनई का पत्र इस्माईल हनिया के नाम

फिलिस्तीनी प्रतिरोध ने अपने प्रतिरोध और संघर्ष से अमेरिका और इस्राईल के षड्यंत्र को नाकाम बनाते हुए उम्मत को गौरवान्वित किया है मैं खुदा का शुक्र और आप लोगों का आभार और साहस के लिए धन्यवाद देता हूं।

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार ईरान की इस्लामी क्रांति के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई ने फिलिस्तीन प्रतिरोधी आंदोलन हमास के नेता इस्माईल हनिया के पत्र का जवाब देते हुए फिलिस्तीन प्रतिरोध की क़द्र करते हुए फिलिस्तीन की आज़ादी के लिए संघर्ष करने वाले मुजाहिदीन को मुबारकबाद पेश की।
आयतुल्लाह ख़ामेनई ने लिखा कि मैंने आपका पत्र पढ़ा, फिलिस्तीनी प्रतिरोध ने अपने प्रतिरोध और संघर्ष से अमेरिका और इस्राईल के षड्यंत्र को नाकाम बनाते हुए उम्मत को गौरवान्वित किया है मैं खुदा का शुक्र और आप लोगों का आभार और साहस के लिए धन्यवाद देता हूं।
आयतुल्लाह ख़ामेनई ने कहा कि विभिन्न मैदानों में मुंहे की खाने वाले दुश्मन ने इस्लामी समाज की अधिकारों का हनन करते हुए अपनी विस्तारवादी नीतियों को बढ़ावा देते हुए पहले ग़ज़्ज़ा की नाकाबंदी और फिर खौफ और भय के साथ साथ वार्ता का ऑफर और अन्य लालच देते हुए अपने हितों को साधना चाहा लेकिन फिलिस्तीनी जियालों ने अपने साहस, तर्क और अनुभव के साथ, धमकी , लालच किसी को कोई महत्व नहीं दिया और अतीत की ही भांति अपने अनुकरणीय प्रतिरोध के साथ उम्मत के लिए सम्मान और गरिमा की गाथा लिखी और भविष्य में भी इन शा अल्लाह इसी मार्ग को जारी रखेंगे।
आयतुल्लाह ख़ामेनई ने यक़ीन दिलाया कि ईरान हमेशा की तरह अपने दीनी और इंसानी फ़रीज़े को निभाते हुए फिलिस्तीन की मदद करता रहेगा और ज़ायोनी अत्याचारों के खिलाफ फिलिस्तीनी मज़लूमों की हर तरह मदद करता रहेगा।  
..............

लाइक कीजिए
1
फॉलो अस
नवीनतम
हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई के बया ...

इस्लामी एकता के परिणाम