×
×
×

पश्चिमी एशिया में ईरान अमेरिका के लिए सबसे बड़ी चुनौती

मध्य पूर्व में आतंकवादी समूहों के गठन में अमेरिका की भूमिका एवं उन्हें आर्थिक एवं सैन्य सहायता देने का उल्लेख किए बगैर इस अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि ईरान के बाद पश्चिमी एशिया में अमेरिका को दूसरी चुनौती के रूप में आतंकवाद का सामना करना है।

विलायत पोर्टल : अमेरिका ने एक बार फिर आतंकवाद के विरूद्ध संघर्ष का दावा करते हुए कहा है कि पश्चिमी एशिया में अमेरिकी उपस्थिति का कारण आतंकवाद के विरुद्ध संघर्ष है। मध्य पूर्व मामलों के लिए अमेरिकी विदेश मंत्री के सहायक ने पश्चिमी एशिया में आतंकवाद और उसको मिलने वाले तथाकथित ईरानी समर्थन को अपने लिए सबसे बड़ी चुनौती बताया है। अमेरिकी विदेश विभाग के अधिकारी ने कहा कि अमेरिका मध्य पूर्व में साझा हितों की रक्षा के लिए एक महागठबंधन बनाने की योजना पर काम कर रहा है। युद्ध की आग में झुलस रहे मध्य पूर्व में अमेरिका की नकारात्मक भूमिका का कोई उल्लेख किए बगैर पेंटागन के इस अधिकारी ने कहा कि इन साझा हितों तक पहुंचने के मार्ग में सबसे बड़ी रुकावट क्षेत्र में फैला आतंकवाद और उससे मिलने वाला ईरान का समर्थन है। यह एक प्रॉक्सी युद्ध है जो न केवल अमेरिकी बलों को हमलों का निशाना बना रहा है बल्कि हमारे सहयोगियों पर भी हमले जारी हैं और उनकी संप्रभुता एवं स्थिरता को खतरा है।
मध्य पूर्व में आतंकवादी समूहों के गठन में अमेरिका की भूमिका एवं उन्हें आर्थिक एवं सैन्य सहायता देने का उल्लेख किए बगैर इस अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि ईरान के बाद पश्चिमी एशिया में अमेरिका को दूसरी चुनौती के रूप में आतंकवाद का सामना करना है। आईएसआईएस एवं अलकायदा जैसे चरमपंथी संगठन कमजोर समुदायों को निशाना बना रहे हैं और लोगों को डराने धमकाने के साथ उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। पेंटागन के इस वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हम आतंकवाद के विरुद्ध संघर्ष में अपनी क्षमताओं को बढ़ाने के लिए अपने सहयोगियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं ताकि ईरान समर्थित आतंकवाद का मुकाबला कर सकें।
.......................


लाइक कीजिए
0
फॉलो अस
नवीनतम