Code : 1601 537 Hit

ईरान और इराक दो जिस्म एक जान, इश्क़े इमाम हुसैन अ.स. करेगा इस रिश्ते को और मज़बूत : आयतुल्लाह ख़ामेनई

आयतुल्लाह ख़ामेनई ने इराक प्रदर्शन को ईरान विरोधी रंग देने की साम्राज्यवादी शक्तियों के हथकंडों की निंदा करते हुए कहा कि ईरान और इराक दो राष्ट्र, दो जिस्म हैं लेकिन अल्लाह और अहलेबैत अ.स. पर ईमान और इमाम हुसैन से इश्क़ के कारण एक जान हैं।ईरान और इराक की जनता के दिलो जान एक हैं और यह रिश्ता गुज़रते समय के साथ और बढ़ता रहेगा दुश्मन ने दोनों देशों के बीच फूट डालना चाही लेकिन नाकाम रहे और भविष्य मे भी मुंह की खाते रहेंगे

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार इराक के हालिया विरोध प्रदर्शनों को हिंसक बनाकर ईरान, अरबईन और मरजईयत विरोधी रंग देने की साम्राज्यवादी शक्तियों पर पानी फेरते हुए इराकी सरकार और जनता ने जहाँ एक ओर साम्राज्यवादी शक्तियों को निराश कर दिया है वहीँ अरबईने इमाम हुसैन अ۔स۔ के अवसर पर दुनियाभर से आने वाले ज़ाएरीन का स्वागत कर इराकी जनता ने एक बार फिर स्पष्ट कर दिया है इमाम हुसैन अ.स. का इश्क़ ही सबसे बड़ी ताक़त और सबसे अटूट बंधन है ।
हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई ने इराक प्रदर्शन को ईरान विरोधी रंग देने की साम्राज्यवादी शक्तियों के हथकंडों की निंदा करते हुए कहा कि ईरान और इराक दो राष्ट्र, दो जिस्म हैं लेकिन अल्लाह और अहलेबैत अ.स. पर ईमान और इमाम हुसैन से इश्क़ के कारण एक जान हैं।
ईरान और इराक की जनता के दिलो जान एक हैं और यह रिश्ता गुज़रते समय के साथ और बढ़ता रहेगा दुश्मन ने दोनों देशों के बीच फूट डालना चाही लेकिन नाकाम रहे और भविष्य मे भी मुंह की खाते रहेंगे।




.......................

0
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम