×
×
×

शहीद क़ासिम सुलैमानी के बाद और मज़बूत हुआ प्रतिरोधी आंदोलन : हिज़्बुल्लाह

शहीद क़ासिम सुलैमानी की शहादत के बाद प्रतिरोध दल और अधिक सक्षम एवं मज़बूत हुए हैं उनके संसाधन एवं क्षमता बढ़ी है साथ ही वह उनकी शहादत के बाद अमेरिका और इस्राईल के किसी भी दुस्साहस का जवाब देने के लिए पहले से अधिक तैयार हैं लेबनान ही नहीं पूरा क्षेत्र अमेरिकी ज़ायोनी षड्यंत्र का सामना करने के लिए तैयार है ।

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसरा लेबनान के प्रतिरोधी आंदोलन और मुख्य राजनैतिक दल हिज़्बुल्लाह की एग्जीक्यूटिव कौंसिल के चेयरमैन सय्यद हाशिम सफीउद्दीन ने कहा कि शहीद क़ासिम सुलैमानी की शहादत के बाद प्रतिरोधी आंदोलन और अधिक मज़बूती से उभरा है ।
उन्होंने कहा कि शहीद क़ासिम सुलैमानी की शहादत के बाद प्रतिरोध दल और अधिक सक्षम एवं मज़बूत हुए हैं उनके संसाधन एवं क्षमता बढ़ी है साथ ही वह उनकी शहादत के बाद अमेरिका और इस्राईल के किसी भी दुस्साहस का जवाब देने के लिए पहले से अधिक तैयार हैं लेबनान ही नहीं पूरा क्षेत्र अमेरिकी ज़ायोनी षड्यंत्र का सामना करने के लिए तैयार है ।
प्रतिरोध हमारा गौरव है जो आने वाली पीढ़ियों की आशा ज़िंदा रखे हुए है हम अपने शहीदों के मिशन के प्रति समर्पित हैं चाहे इस राह में हमे अपन सब प्यारों की क़ुर्बानी देना पड़े ।
...........

लाइक कीजिए
0
फॉलो अस
नवीनतम