×
×
×

सरकारें आती जाती रहती हैं देश रहता है, बाइडन चालाक लोमड़ी

हम एक देश के तौर पर अफगानिस्तान का समर्थन करते हैं। सरकारें आती जाती रहती हैं लेकिन जो रहता है वह है अफगान देश !

विलायत पोर्टल : आयतुल्लाह ख़ामेनई ने ईरान के राष्ट्रपति इब्राहीम रईसी और उनकी नव गठित कैबिनेट के साथ अपनी पहली मुलाक़ात में
ईरान के सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई ने अफगानिस्तान के हालात पर चर्चा करते हुए कहा कि अफगानिस्तान की इस हालत की जिम्मेदारी अमेरिका की है।  उन्होंने पिछले 20 साल से इस देश पर अपने कब्ज़े के बीच हर तरह के अत्याचार किए।  आयतुल्लाह ख़ामेनई ने  अफगानिस्तान में जारी हिंसा और घटनाक्रम के लिए अमेरिका को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि अमेरिका के वर्तमान राष्ट्रपति जो बाइडन और पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प में कोई फर्क नहीं है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी विदेश नीति के पर्दे के पीछे एक शिकारी भेड़िया है जो समय समय पर चालाक लोमड़ी का रूप लेलेता है।  अफगानिस्तान में जारी संकट का कारण अमेरिका है।
आयतुल्लाह ख़ामेनई ने ईरान और अफगानिस्तान के संबंधों पर बात करते हुए कहा कि दोनों देशों की भाषा धर्म और संस्कृति एक जैसी है।
तालिबान सरकार के साथ ईरान के संबंधों के बारे में संकेत करते हुए आयतुल्लाह ख़ामेनई ने कहा कि यह इस बात पर निर्भर करता है कि वह ईरान के साथ कैसे संबंध रखते हैं।
हम एक देश के तौर पर अफगानिस्तान का समर्थन करते हैं। सरकारें आती जाती रहती हैं लेकिन जो रहता है वह है अफगान देश !
याद रहे कि ईरान और तालिबान के संबंध बहुत अच्छे नहीं रहे हैं। 1990 के दशक में दोनों के बीच युद्ध जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई थी। जब तालिबान ने मजारे शरीफ में ईरानी वाणिज्य दूतावास पर हमला करते हुए ईरान के 9 राजनयिकों और एक पत्रकार की हत्या कर दी थी।
.......................

लाइक कीजिए
0
फॉलो अस
नवीनतम