×
×
×

बाइडन दो टूक, अमेरिकी हित सबसे पहले, लोकतंत्र या अफ़ग़ानिस्तान नहीं

फगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा  हमारे अनुमान से तेज़ था और उसका एक कारण यह था कि अफ़गान सेना ने तालिबान से मुकाबला नहीं किया और अफ़ग़ान नेतृत्व ने तालिबान के आगे आत्मसमर्पण कर दिया।

विलायत पोर्टल : अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना को निकालने के फैसले पर आलोचना का सामना कर रहे हैं अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि हमारा कभी भी उद्देश्य नहीं था कि हम अफगानिस्तान में अखंडता एवं लोकतंत्र की स्थापना करें।  हम कभी भी अफगानिस्तान के निर्माण के उद्देश्य से नहीं गए।  हम 20 साल पहले जब अफगानिस्तान पहुंचे तो हमारे कुछ उद्देश्य थे और हमने अपने उद्देश्यों को पाने में सफलता हासिल की है।  उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य 9/11 के अपराधियों की गिरफ्तारी और दूसरी ओर से यह निश्चित करना था कि अलकायदा अफगानिस्तान को हमारे खिलाफ हमलो के लिए इस्तेमाल न कर सके। हमारा उद्देश्य सिर्फ यही था और हमने अफगानिस्तान में अलकायदा को कमजोर कर दिया है और हमने कभी भी ओसामा बिन लादेन की तलाश कम नहीं की। उसे तलाशा और यह काम एक दशक तक जारी रहा। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में अमेरिका का उद्देश्य आज भी वही है। अमेरिकी हितों को आतंकी हमलों से बचाना। उन्होंने कहा कि मैं चाहता हूं अमेरिकी लोगों के साथ सच्चा रहूं और इस बात पर जोर देता हूं। अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा  हमारे अनुमान से तेज़ था और उसका एक कारण यह था कि अफ़गान सेना ने तालिबान से मुकाबला नहीं किया और अफ़ग़ान नेतृत्व ने तालिबान के आगे आत्मसमर्पण कर दिया। हम नहीं चाहते थे कि अफगानिस्तान में अमेरिकी मुहिम को समाप्त करने की घोषणा कोई पांचवा राष्ट्रपति करे। मैं अमेरिका का राष्ट्रपति हूं और इस काम की जिम्मेदारी लेता हूं। मैं नहीं चाहता कि अमेरिका ने अतीत में जो गलतियां की है उनको फिर दोहराया जाए। उन्होंने अपने आलोचकों को निशाने पर लेते हुए कहा कि आप चाहते हैं अमेरिका की कितनी पीढ़ियों को अफ़ग़ानिस्तान भेजा जाए ? आपको पता होना चाहिए कि अफगान सेना तालिबान से लड़ने के लिए तैयार नहीं थी तो हम भी उस जंग में अपने सैनिकों को नहीं झोंक सकते थे जिससे खुद अफगान सैनिक बचना चाहते हैं। अमेरिका ने अफगानिस्तान सेना पर 1 ट्रिलियन डॉलर से अधिक खर्च किए।  तालिबान से लड़ने के लिए उन्हें तमाम सैन्य संसाधन दिए।  हम उन के अंदर जंग की इच्छा तो नहीं भर सकते थे।

...................

लाइक कीजिए
0
फॉलो अस
नवीनतम