×
×
×
Code : 1969 360 Hit

आयतुल्लाह सीस्तानी का पैग़ाम हुस्नी मुबारक के नाम, 13 साल बाद हुआ प्रकाशित

इस्राईल से अपने देश की भूमि को आज़ाद कराने वाले शिया समाज को आप कैसे भूल सकते हैं ? या कुवैत के शिया जो अपने देश के लिए अतिक्रमणकारियों के खिलाफ डट गए

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार इमाम हुसैन अ.स. के रौज़े की आधिकारिक वेबसाइट ने हुस्नी मुबारक को नसीहत करते हुए लिखा गया आयतुल्लाह सीस्तानी का एक पत्र प्रकाशित किया है जो आयतुल्लाह ने 2006 में मिस्र के तत्कालीन तानाशाह हुस्नी मुबारक के नाम लिखा था ।
आयतुल्लाह सीस्तानी ने अल अरेबिया चैनल को दिए गए हुस्नी मुबारक के इंटरव्यू के बाद पात्र लिखते हुए कहा कि हुस्नी मुबारक साहब आपने इराक और क्षेत्र के शिया संप्रदाय की वतन दोस्ती और देश भक्ति पर सवाल उठाया है आपकी बातें इस समाज के करोड़ों लोगों की देश सेवा और देश भक्ति पर सवाल उठाती हैं तथा उनकी देश सेवा का उपहास तथा अतीत एवं वर्तमान के इतिहास के विपरीत है ।
आप कुवैत, लेबनान, इराक, बहरैन की अनदेखी कर रहे हैं आप कैसे भूल सकते हैं कि 1920 में  ब्रिटिश एम्पायर के खिलाफ शिया समाज ने क्या क्या क़ुर्बानियां दी।
इस्राईल से अपने देश की भूमि को आज़ाद कराने वाले शिया समाज को आप कैसे भूल सकते हैं ? या कुवैत के शिया जो अपने देश के लिए अतिक्रमणकारियों के खिलाफ डट गए , आपकी विचार धारा जिन तथ्यों पर आधारित है वो झूठ का पुलिंदा है और सबसे बढ़कर आपकी इस विचारधारा का शिकार राजनैतिक, सामाजिक , एवं आर्थिक रूप से इस क्षेत्र में रहने वाले इस समाज के करोड़ों लोग होंगे।
...............

2
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम