Code : 1510 576 Hit

अरबईन मार्च, दुनिया का अनोखा कार्यक्रमः इराक़ी जनता ने मरजईयत की पैरवी की तो दुश्मनों को करना पड़ा हार का सामना।

हज़रत आयतुल्लाह सैय्यद अली ख़ामेनेई ने कहा कि दुश्मन दोनों राष्ट्रों के बीच दोस्ती को ख़त्म करने के लिए काफी प्रयास कर रहे हैं, लेकिन अल्लाह का शुक्र है कि वह विफल रहे हैं और आगे से भी असफल रहेंगे

विलायत पोर्टलः इस्लामी इंकेलाब के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह सैय्यद अली ख़ामेनेई ने कहा है कि दुश्मन ईरानी और इराकी राष्ट्रों के बीच फूट डालने के लिए संघर्ष कर रहा है, लेकिन अब तक विफल रहा है क्योंकि दोनों पड़ोसी देशों में बहुत सारी समानताएं, विशेष रूप से एक विराचधारा के मानने वाले हैं।
सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह सैय्यद अली ख़ामेनेई ने चेहलुम में ज़ाएरीन की सराहनीय सेवा करने वाले इराक़ियों से मुलाक़ात में इमाम हुसैन और उनके आंदोलन की महानता पर रौशनी डाली।
हज़रत आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामेनई के अनुसार इमाम हुसैन एक पाठशाला हैं जहां सारी दुनिया को सीख मिलती है।
हज़रत आयतुल्लाह सैय्यद अली ख़ामेनेई ने कहा कि दुश्मन दोनों राष्ट्रों के बीच दोस्ती को ख़त्म करने के लिए काफी प्रयास कर रहे हैं, लेकिन अल्लाह का शुक्र है कि वह विफल रहे हैं और आगे से भी असफल रहेंगे, क्योंकि ईरानी और इराकी राष्ट्रों के बीच एकता का मुख्य कारक अल्लाह पर उनका विश्वास है और पैगंबर के अहलेबैत अ. के लिए प्यार है।
हज़रत आयतुल्लाह खामेनेई ने इमाम हुसैन (अ.स.) ने ज़ाएरीन की सेवा करने वाले इराकी मौक़ेब (सड़क के किनारे लगने वाले कैम्प) के ज़िम्मेदारों के साथ एक मुलाक़ात में अरबईन मार्च को विश्व की अभूतपूर्व घटना बताया जिसकू कोई मिसाल नहीं मिलती।

1
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम