Code : 746 12 Hit

अलअज़हर, शिया-सुन्नी इस्लाम के दो बाज़ू, आयतुल्लाह शीराज़ी ने किया स्वागत

ईरान के एक वरिष्ठ धर्मगुरू आयतुल्लाह नासिर मकारिम शीराज़ी ने अल-अज़हर विश्वविद्यालय के प्रमुख की ओर से शिया और सुन्नी मुसलमानों के बुद्धिजीवियों की बैठक का स्वागत किया है।

ईरान के एक वरिष्ठ धर्मगुरू आयतुल्लाह नासिर मकारिम शीराज़ी ने अल-अज़हर विश्वविद्यालय के प्रमुख की ओर से शिया और सुन्नी मुसलमानों के बुद्धिजीवियों की बैठक का स्वागत किया है।

उन्होंने शिया-सुन्नी एकता के बारे में डाक्टर अहमद तैय्यब की मांग का स्वागत करते हुए कहा कि हम आपकी इस पहल का समर्थन करते हैं।  आयतुल्लाह नासिर मकारिम शीराज़ी ने कहा कि आपकी यह बात सही है कि शिया और सुन्नी, इस्लामी जगत के दो बाज़ूओं के समान हैं।  उन्होंने कहा कि ऐसे में कि जब शिया और सुन्नी मुसलमानों के बीच मतभेद फैलाने के प्रयास किये जा रहे हैं, एकता के उद्देश्शय से शिया और सुन्नी मुसलमानों के बुद्धिजीवियों की बैठक का आहृवान, प्रशंसनीय पहल है।

आयतुल्लाह नासिर मकारिम शीराज़ी ने कहा कि हम यह मानते हैं कि शियों के बारे में आपकी ओर से बयान की गई बातें, ऐसी हैं जिनपर विचार-विमर्श किये जाने की आवश्यकता है।  उन्होंने कहा कि इस प्रकार के विषयों को मीडिया के माध्यम से उठाने से इस्लाम के विरोधी इन बातों का दुरूपयोग करते हुए शिया-सुन्नी मुसलमानों के बीच मतभेद फैलाते हैं जिससे तनाव बढ़ता है।

आयतुल्लाह नासिर मकारिम शीराज़ी ने कहा कि दोनों के बीच मतभेद के विषयों को संचार माध्यमों के बजाए दोनो समुदायों के धर्मगुरूओं की उपस्थिति में प्रस्तूत किया जाए ताकि उनके उचित उत्तर पेश किये जाएं।

1
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम