Code : 1377 180 Hit

लंदन में रोज़ेदारों ने अपनी जान पर खेल कर बहुत बड़ी घटना घटने से रोकी

डब्लयू टी एक्स न्यूज़ की तस्वीर में 1 जून 2019 को लंदन के हैक्नी इलाक़े में केनिन्गहॉल रोड पर स्थित गुच हाउस के पास फ़ायर फ़ाइटर्ज़ की गाड़ी नज़र आ रही हैब्रिटेन की राजधानी लंदन में रोज़ेदार मुसलमानों के एक गुट ने अपनी जान पर खेल कर एक ऊंची बिल्डिंग में लगी आग से, उसमें रहने वालों को बचाया।

विलायत पोर्टलः डब्लयू टी एक्स न्यूज़ ने शनिवार को एक रिपोर्ट में बताया कि लंदन के हैक्नी इलाक़े में स्थित मदीना मस्जिद से सुबह की नमाज़ पढ़ कर निकल रहे मुसलमान अपनी जान पर खेल कर जलती हुयी बिल्डिंग में दाख़िल हए ताकि उसमें रहने वालों को समय रहते वहां से निकालें।

रिपोर्ट के अनुसार, ये लोग जब सुबह की नमाज़ पढ़ कर मस्जिद से निकले तो उन्होंने देखा कि केनिन्गहॉल रोड़ पर स्थित गुच हाउस की आठवीं मंज़िल पर एक जगह आग लगी है। ये लोग पवित्र रमज़ान में रोज़े की हालत में थे और बिल्डिंग में दाख़िल हुए और सबसे ऊपरी मंज़िले से दरवाज़ों को खटखटाकर हर एक को उठाना शुरु किया। उन्होंने 18वीं मंज़िले से लोगों को उठाना शुरु किया और उन्हें दुर्घटना के बारे में सूचित किया।

इन लोगों ने इस बात को सुनिश्चित बनाया कि हर एक बाहर निकल आए। इस काम के लिए उन्होंने हर दरवाज़े को उस समय तक खटखटाया जब तक किसी ने दरवाज़ा खोला नहीं। एक स्थानीय निवासी ने डब्लयू टी एक्स न्यूज़ को बताया कि ये 6 से 7 जवान लोग थे। अगर वे न होते तो हम बाहर नहीं निकल पाते।

गुच बिल्डिंग के एक और निवासी ने बतायाः वे "आग, आग, बाहर निकलो" चिल्लाते हुए हमारे दरवाज़े को खटखटा रहे थे। उन्होंने मेरी मां की सीढ़ी उतरने में मदद की जबकि मैं अपनी बीवी के साथ पहली मंज़िल पर उस वृद्ध व्यक्ति को देखने गया जो कैंसर पीड़ित था।

1 जून 2019 को लंदन के हैक्नी इलाक़े में केनिन्गहॉल रोड पर स्थित गुच हाउस में लगी आग से सुरक्षित बचे निवासियों द्वारा स्थानीय मुसलमानों को लिखा गया शुक्रिया का ख़त

इस रिपोर्ट के अनुसार, यह सब रमज़ान महीने की बर्कत थी कि इस महीने में मुसलमान मस्जिद नियमित रूप से जाते हैं और बड़ी संख्या में मुसलमान इस आपात स्थिति में मदद करने के लिए वहां मौजूद थे।

रिपोर्ट के अनुसार, फ़ायर फ़ाइटर्ज़ जब तक घटना स्थल पर पहुंचते उस समय तक सब लोग सुरक्षित निकल आए थे।

जलते हुए सिग्रेट के टुकड़े को इस आग का कारण बताया जा रहा है। इस आग को नियंत्रित करने में एक घंटे से कम समय लगा और सिर्फ़ एक व्यक्ति को धुएं की वजह से इलाज की ज़रूरत पड़ी।

पारस टुडे

1
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम