Code : 1392 148 Hit

यमनी सेना ने मार गिराया एमक्यू-9 ड्रोन

यमनी सेना और स्वयं सेवी बलों ने सऊदी अरब के अमरीका निर्मित एक आधुनिक ड्रोन विमान को मार गिराया जिससे सऊदी अरब और उसके घटकों में खलबली मच गई।

विलायत पोर्टलः यमनी सेना और स्वंयसेवी बल अंसारुल्लाह ने गुरुवार की दोपहर बाद देश के पश्चिमी तट पर स्थित अलजेबालिया इलाक़े में इस ड्रोन को मार गिराया। यमनी वायु सेना के एक सूत्र ने बताया कि यह ड्रोन अमरीका निर्मित एमक्यू-9 रीपर था।

सूत्र का कहना है कि सऊदी अरब की वायु सेना ने इस ड्रोन विमान के मबले को यमनी सेना और स्वयं सेवी बलों के हाथ लगने से रोकने के लिए मलबे पर कई बार बमबारी की।

अब यहां पर यह सवाल पैदा होता है कि सऊदी अरब क्यों नहीं चाहता था कि यमनी सेना और स्वयं सेवी बलों के जवानों के हाथ इस ड्रोन विमान का मलबा लगे?

विशेषज्ञों का यह मानना है कि यह ड्रोन विमान एमक्यू-9 था जो एमक्यू-1 का लेटेस्ट वर्जन है। इस ड्रोन विमान को जासूसी और मीज़ाइल फ़ायर करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

एमक्यू-9 ड्रोन विमान ने आटोमैक्स कंपनी द्वारा 2001 में पहली बार उड़ान भरा था और इस विमान को अधिकतर अफ़ग़ान युद्ध में प्रयऔग किया गया यद्यपि इसे दुनिया के अन्य युद्धग्रस्त क्षेत्रों में भी प्रयोग किया गया है।

अमरीकी सेना ने वर्ष 2006 में पहली बार इन ड्रोन विमानों पर आधारित हवाई बटालियन को नवाडा एयरबेस में स्थापित किया था। अमरीकी सेना के ग़ैर सरकारी आंकड़ों के आधार पर वर्ष 2014 तक इस प्रकार के 163 ड्रोन विमानों का उत्पादन और उनको प्रयोग किया जा चुका है।

इस ड्रोन विमान की विशेषता के बारे में कहा जाता है कि ड्रोन विमान के पंख 20 मीटर लंबे हैं जबकि ड्रोन की लंबाई 11 मीटर है। यह ड्रोन ज़मीन से साढ़े तीन मीटर ऊंचा है। इस ड्रोन का वज़न 2 टन 200 किलोग्राम है जबकि अगर यह हथियारों से लैस हो जाता है तो इसका भार 4 टन 700 किलोग्राम तक पहुंच जाता है। यह ज़्यादा से ज़्यादा 480 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ़्तार से उड़ान भर सकता है और तीन हज़ार किलोमीटर रेडियो धर्मिता में अपने अभियान को सरलता से अंजाम दे सकता है।

एमक्यू-9 हवा से ज़मीन पर मार करने वाले चार मीज़ाइलों और जीबीयू क्रम के दो गाइडेड बमों को लेकर उड़ान भर सकता है जबकि वर्तमान समय में इसको एंटी एयर मीज़ाइल स्टेनगर से लैस करने का प्रयास किया जा रहा है।

इस ड्रोन विमान का मूल्य साढ़े ग्यारह मिलियन डॉलर निर्धारित किया गया है और यह राशि आप्रेश्न रूम और सशस्त्र करने के साथ 30 मिलियन डॉलर तक पहुंच जाती है।

पारस टुडे

0
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम