Code : 1467 205 Hit

फिलिस्तीनी प्रतिरोध से जल्द ही ट्रम्प हाइट्स बनेगा नेतेन्याहू के लिए क़ब्रिस्तान

ईरानी संसद सभापति के अंतरराष्ट्रीय मामलों में सलाहकार ने कहा है कि गोलान हाइट्स पर, ट्रम्प के नाम की बस्ती, फिलिस्तीनी प्रतिरोध की वजह से, इस्राईली प्रधानमंत्री के लिए क़ब्रिस्तान बन जाएगी।

विलायत पोर्टलः हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियान ने ट्वीट किया कि गोलान, इस्राईली प्रधानमंत्री नेतेन्याहू का अंत है।अस्ल में इस्राईली मंत्रिमंडल ने गोलान हाइट्स में ट्रम्प हाइट्स नाम से एक बस्ती बनाए जाने को मंजूरी दी है। इस्राईली प्रधानमंत्री ने कहा है कि यह बस्ती ट्रम्प के नाम पर इस लिए बनायी जा रही है क्योंकि उन्होंने गोलान पर इस्राईल के अधिकार को औपचारिक रूप से स्वीकार किया है।

इस्राईल ने सन 1967 के युद्ध में सीरिया की गोलान हाइट्स पर क़ब्ज़ा कर लिया था और वहां से लगभग डेढ़ लाख सीरियाई नागरिकों को खदेड़ दिया था।

बचे हुए सीरियाई नागरिकों को इस्राईल ने नागरिकता का प्रस्ताव दिया किंतु उन्होंने इसे अस्वीकार कर दिया और इस क्षेत्र में अब भी इस्राईल के अवैध क़ब्ज़े के खिलाफ प्रदर्शन होते हैं।

विश्व समुदाय और संयुक्त राष्ट्र, गोलान हाइट्स पर इस्राईल को कब्ज़े को अवैध मानता है किंतु अमरीकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने यह क्षेत्र इस्राईल को बख्श दिया है।

इस्राईल ने सन 1949 में " कफर ट्रूमैन" नाम की एक बस्ती बनायी थी जो अमरीकी राष्ट्रपति हेरी ट्रमैन की ओर से इ्सराईल को सब से पहले औपचारिक रूप से स्वीकार किये जाने के आभार के लिए थी।

गोलान में सीरिया के 25 हज़ार से अधिक दुरुज़ी जाति के लोग रहते हैं जब कि सन 1967 में इस्राईली क़ब्ज़े के बाद इस क्षेत्र में 25 हज़ार से अधिक यहूदियों को बसाया गया है। हालांकि यह गैर कानूनी है और सीरिया ने कहा है कि वह एक न एक दिन अपना यह क्षेत्र इस्राईल से वापस लेकर रहेगा।

पारस टुडे

0
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम