Code : 806 128 Hit

ख़ाके शिफ़ा

कुछ हदीसों में है कि केवल वह ख़ाक इमाम अ.स. की क़ब्र की ख़ाक कही जाएगी जो इमाम के सर और पाक बदन के पास की हो, जैसाकि इमाम सादिक़ अ.स. फ़रमाते हैं कि, इमाम हुसैन अ.स. के मुबारक सर के पास लाल ख़ाक है जिसमें मौत के अलावा हर बीमारी का इलाज है।


विलायत पोर्टलः किस जगह की ख़ाक को इमाम हुसैन अ.स. की क़ब्र की ख़ाक कहा जा सकता है?
यह सवाल उन मसाएल में से है कि जिसमें ध्यान देने की ज़रूरत है, कि वह ख़ाक जिसको इमाम हुसैन अ.स. की क़ब्र की ख़ाक कहा जा सके वह ख़ाक किस जगह से ली गई हो, क्या पूरे कर्बला शहर में कहीं से भी ली गई ख़ाक को कहेंगे? या केवल इमाम अ.स. की क़ब्र ही से ली गई हो? या या इमाम अ.स. के सरहाने से ली गई हो?
मासूमीन अ.स. द्वारा इमाम हुसैन अ.स. की क़ब्र की जो हद बयान की गई है उसको कई भाग में बांटा जा सकता है।
कुछ हदीसों में इस तरह आया है कि इमाम सादिक़ अ.स. फ़रमाते हैं कि इमाम हुसैन अ.स. की क़ब्र की हद 35 मीटर वर्ग होती हैं। (काफ़ी, शैख़ कुलैनी, जिल्द 4, पेज 588, कामिलुज़-ज़ियारात, पेज 486, तहज़ीबुल अहकाम, जिल्द 6, पेज 74)
कुछ हदीसों में इमाम हुसैन अ.स. की क़ब्र की हद 2 किलोमीटर वर्ग ज़िक्र हुई है। (कामिलुज़-ज़ियारात, पेज 280, बिहारुल अनवार, जिल्द 101, पेज 131)
कुछ हदीसों में इमाम अ.स. की क़ब्र की हद 5750 वर्ग मीटर है। (कामिलुज़-ज़ियारात, पेज 282, तहज़ीबुल अहकाम, जिल्द 6, पेज 71, बिहारुल अनवार, जिल्द 101, पेज 131)
कुछ हदीसों में है कि केवल वह ख़ाक इमाम अ.स. की क़ब्र की ख़ाक कही जाएगी जो इमाम के सर और पाक बदन के पास की हो, जैसाकि इमाम सादिक़ अ.स. फ़रमाते हैं कि, इमाम हुसैन अ.स. के मुबारक सर के पास लाल ख़ाक है जिसमें मौत के अलावा हर बीमारी का इलाज है। (कामिलुज़-ज़ियारात, पेज 279)
हदीसों का एक और भाग है जिसमें क़ब्र की हद को 28750 वर्ग मीटर बताया गया है, जैसाकि इमाम सादिक़ अ.स. ने फ़रमाया, इमाम सादिक़ अ.स. ने फ़रमाया कि इमाम हुसैन अ.स. के हरम की हद 28750 वर्ग मीटर है। (कामिलुज़-ज़ियारात, पेज 272, मिसबाहुल-मुतहज्जिद पेज 511)
इसी तरह एक और हदीस में इसहाक़ इब्ने अम्मार ने इमाम सादिक़ अ.स. से नक़्ल किया है कि इमाम हुसैन अ.स. की क़ब्र की हद 12.5 वर्ग मीटर है।
एक और हदीस में इमाम सादिक़ अ.स. ने फ़रमाया कि इमाम हुसैन अ.स. की क़ब्र की हद 70 वर्ग मीटर है। (बिहारुल अनवार, जिल्द 101, पेज 131)
शैख़ तूसी मरहूम इन सभी हदीसों को देखने और पढ़ने के बाद फ़रमाते हैं कि इन हदीसों में जो सबसे कम क्षेत्रफल इमाम हुसैन अ.स. की क़ब्र का बताया गया है वह इमाम अ.स. के मुबारक सर और पाक बदन से क़रीब को बताया है, और जो सबसे अधिक बताया गया है वह 28750 वर्ग मीटर है, इसका मतलब यह होगा कि इमाम सादिक़ अ.स. या दूसरे इमाम अ.स. ने जो हदें बताई हैं जितना इमाम हुसैन अ.स. के क़रीब की ख़ाक होगी उतना ही सवाब और उस ख़ाक की अहमियत बढ़ती जाएगी।


0
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम