Code : 1185 100 Hit

इस्राईल की यह इच्छा है कि ईरान पर अधिक से अधिक दबाव बनाया जाएः नेतनयाहू

ज़ायोनी शासन के प्रधानामंत्री ने ट्रम्प द्वारा ईरान के विरूद्ध की जाने वाली कार्यवाहियों की प्रशंसा करते हुए कहा है ट्रम्प की ईरान विरोधी पालीसियों का पूर्णरूप से समर्थन करता हूं।

विलायत पोर्टलः  बिनयमिन नेतनयाहू ने कहा कि ट्रम्प ने कुछ अच्छे काम किये जैसे वेएकपक्षीय रूप से परमाणु समझौते से निकल गए, उन्होंने ईरान के विरुद्ध आर्थिक प्रतिबंधों को बढ़ायाऔर आईआरजीसी को आतंकवादी गुटों की सूचि में डाला।  नेतनयाहू ने कहा कि यह वेकार्यवाहियां हैं जिनका हम खुलकर समर्थन करते हैं।  इससे पहले भी अवैध ज़ायोनी शासन के प्रधानमंत्री इस बात के लिए ट्रम्प की प्रशंसा कर चुके हैं कि वे इस्लामी गणतंत्र ईरान के विरुद्ध दबाव बनाए हुए हैं। अमरीका की सत्ता संभालने के बाद से डोनाल्ड ट्रम्प ने पश्चिमी एशिया के बारे में जो नीति अपनाई है उसका नेतनयाहू आरंभ से समर्थन करते आ रहे हैं।

ट्रम्प ने सितंबर 2017 को बैतुल मुक़द्दस को ज़ायोनी शासन की राजधानी के रूप में मान्यता दी। इसके कुछ ही महीनों के बाद वे एकपक्षीय रूप में परमाणु समझौते से निकले और ईरान से हटा दिये जाने वाले प्रतिबंधों को फिर से लागू किया। मार्च 2019 में ट्रम्प ने सीरिया में स्थित गोलान हाइट्स को इस्राईल के एक भाग के रूप में मान्यता दी। 8 अप्रैल 2019 को अमरीकी राष्ट्रपति ने इस्लामी क्रांति के संरक्षक बलों, आईआरजीसी को आतंकवादियों की सूचि में डाल दिया। ट्रम्प की इन कार्यवाहियों को विश्व स्तर पर विरोध किया गया किंतु अवैध ज़ायोनी शासन और सऊदी अरब ने इन सभी ईरान विरोधी कार्यवाहियों का खुलकर समर्थन किया है।

पारस टुडे

0
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम