Code : 1503 7 Hit

ईरानी जनता हर प्रकार के अतिक्रमण का मुक़ाबला करने के लिए तैयार है परन्तु स्वंय अमरीका इस स्थिति में नहीं है कि ईरान पर हमला कर सकेः ज़रीफ़

विदेश मंत्री ने कहा है कि अमरीका द्वारा ईरान की इस्लामी क्रांति के सुप्रीम लीडर के कार्यालय पर प्रतिबंध, पूरे ईरानी राष्ट्र का अपमान है।

विलायत पोर्टलः मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने तेहरान में सीएनएन टीवी से बात करते हुए कहा कि हालिया हफ़्तों में अमरीका की कार्यवाहियां पूरी तरह से भड़काऊ रही हैं विशेष करइस्लामी क्रांति के सुप्रीम लीडर के कार्यालय पर प्रतिबंध, अमरीका की ओर सेपूरे ईरानी राष्ट्र का अनादरहै। उन्होंने इस बात पर बल देते हुए कि ईरान टकराव और युद्ध का इच्छुक नहीं है, कहा कि अमरीका इस पोज़ीशन में नहीं है कि ईरान को तबाह कर सके और ईरानी जनता हर प्रकार के अतिक्रमण का मुक़ाबला करने के लिए तैयार है।

विदेश मंत्री ने कहा कि अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प को यह याद रखना चाहिए कि हम 18वीं सदी में जीवन नहीं बिता रहे हैं, संयुक्त राष्ट्र संघ का घोषणापत्र है और किसी देश को युद्ध की धमकी देना, ग़ैर क़ानूनी है। ज़रीफ़ ने कहा कि अमरीकी सरकार इस बात की कोशिश कर रही है कि ईरान की सरकार को कमज़ोर कर दे और वह एक ग़लत समीक्षा के माध्यम से इस विचार तक पहुंची है। उन्होंने कहा कि अमरीका के राष्ट्रपति को ग़लत सूचनाएं व समीक्षाएं प्राप्त हुई हैं। ज्ञात रहे कि अमरीका ने अपनीईरान विरोधी कार्यवाहियां जारी रखते हुए सोमवार कोइस्लामी क्रांति के सुप्रीम लीडर के कार्यालय और आईआरजीसी के कई कमांडरों पर प्रतिबंध लगाए हैं। अमरीकी सरकार ने कहा है कि वह विदेश मंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़पर भी प्रतिबंध लगाएगी।

पारस टुडे

0
शेयर कीजिए
फॉलो अस
नवीनतम