क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब

वह घर जिसमें क़ुर्आन की तिलावत और अल्लाह का ज़िक्र किया जाता हो उसकी बरकतें बढ़ जाती हैं उसमें फ़रिश्ते नाज़िल होते हैं, शैतान उस घर को छोड़ देता है

22 April 2019 04:23 pm0 Hit

महिलाओं के अधिकार, इस्लाम और आधुनिक कल्चर की निगाह में

हक़ीक़त यह है कि नई तहज़ीब और नई संस्कृति भी महिलाओं के साथ होने वाले भेदभाव को नहीं ख़त्म कर सकी और महिलाओं को उनकी असली हैसियत नहीं दिला सकी, हाल में होने वाले हादसे और घटनाएं इस बात का सबूत हैं कि ...

22 April 2019 04:11 pm1 Hit

इस्लामी एकता सम्मेलन में आए हुए मेहमानों के बीच ईरानी सुप्रीम लीडर का बय ...

हमारी मुसलमान भाईयों, इस्लामी समाज से जुड़े लोगों, इस्लामी दुनिया के जानकार और इस्लामी देशों में ख़िदमत करने वाले उलमा से गुज़ारिश है कि जितना हो सके इस इस्लामी आंदोलन (इस्लामी बेदारी) को मज़बूत करें, ...

22 April 2019 03:58 pm0 Hit

इस्राईली दरिंदगी की वजह इस्लामी जगत की ख़ामोशी तो नहीं?

अमेरिका यहूदी अवैध राष्ट्र को बचाने के लिए हर महीने करोड़ो डॉलर ख़र्च करता है जिसकी रिपोर्ट कुछ साल पहले अमेरिकी अधिकारी की तरफ़ से जारी की गई थी, इस्लाम और मुसलमानों के विरुध्द साम्राज्यवादी ताक़तों ...

22 April 2019 03:41 pm0 Hit

इमाम हसन असकरी अ.स. के बाद सामने आने वाले फ़िर्क़े

इतिहासकारों ने लिखा है कि इमाम हसन असकरी अ.स. की शहादत के बाद लोग 14 या 15 फ़िर्क़ों में बंट गए, कुछ इतिहासकारों के अनुसार 20 फ़िर्क़ों में बंट जाने तक का ज़िक्र मौजूद है।

22 April 2019 03:23 pm0 Hit

इमाम सज्जाद अ.स. और पारिवारिक अख़लाक़ी पहलू

औरत का हक़ जिसकी सरपरस्ती एक मर्द कर रहा है यह है कि मर्द उसके वुजूद की ज़रूरत को समझे, और उसको इस बात का एहसास होना चाहिए कि अल्लाह ने आराम, सुकून और ज़िंदगी में प्यार और मोहब्बत को बाक़ी रखने के लिए ...

22 April 2019 03:09 pm0 Hit

इमाम ज़माना अ.स. की ग़ैबत में उम्मत की ज़िम्मेदारियां

ध्यान देने वाली बात है कि अगर हमारे हालात और हमारे बुरे आमाल सैकड़ों साल पहले इमाम सादिक़ अ.स. को बेचैन हो कर रोने पर मजबूर कर सकती है तो क्या हमारी ज़िम्मेदारी नहीं बनती कि हम इस ग़ैबत के दौर में इन ...

22 April 2019 02:55 pm0 Hit

आयतुल्लाह बहजत र.ह. की अख़लाक़ी नसीहतें

नबियों के अख़लाक़ का जीती जागती मिसाल जिसको देख कर ख़ुदा की याद दिल में ताज़ा हो जाए, जिसके अख़लाक़ और किरदार में इमामों के अख़लाक़ और किरदार की झलक पाई जाती थी, इस हस्ती को अभी दुनिया से गुज़रे हुए ज ...

22 April 2019 02:44 pm0 Hit

शबे 15 शाबान के आमाल

यह बहुत बरकत वाली रात है, इमाम जाफ़र सादिक़ अ.स. फ़रमाते हैं कि इमाम बाक़िर स.अ. से जब इस रात के बारे में पूछा गया तो आपने फ़रमाया कि यह रात शबे क़द्र के अलावा सारी रातों से अफ़ज़ल है इसलिए इस रात अल ...

20 April 2019 04:19 pm184 Hit

शबे 15 शाबान के आमाल (1)

शबे नीम-ए-शाबान (शबे बरात) का बेहतरीन अमल इमाम हुसैन अ.स. की ज़ियारत है, जिस से गुनाह माफ़ हो जाते हैं।

20 April 2019 04:12 pm137 Hit

ग़ैबत, ज़ुहूर और इंतेज़ार

इन तीन मसलों में से 2 का संबंध इमाम अ.स. से है और एक का संबंध क़ौम से है, इस बात को एक जुमले में ऐसे समझ लीजिए कि ग़ैबत से इंतेज़ार का तसव्वुर पैदा होता है और इंतेज़ार के बाद ज़ुहूर के हालात का फ़ैसला ...

20 April 2019 03:53 pm15 Hit

क़यामत क्यों ज़रूरी है?

अल्लाह आदिल है और उसके आदिल रहने के लिए ज़रूरी है कि इस दुनिया में ज़्यादातर अच्छे और बुरे लोग बराबर से दुनिया की नेमतों से फ़ायदा उठाते हैं बल्कि ऐसा भी होता है नेक और शरीफ़ इंसान देखते रह जाते हैं औ ...

18 April 2019 07:24 pm0 Hit

दीन के बाक़ी रहने का राज़ अहलेबैत अ.स. की मोहब्बत में है

अगर समाज मवद्दत और मोहब्बत के असली मतलब को समझ कर अमल कर ले तो हमारे बीच के मतभेद बिल्कुल ख़त्म होते दिखाई देंगे और हम सभी एक ही मक़सद की राह में चलते नज़र आएंगे, और याद रहे यह अल्लाह की ख़्वाहिश है क ...

18 April 2019 07:08 pm2 Hit

पैग़म्बर स.अ. की क़ुर्बानी ग़ैर मुस्लिमों की ज़ुबानी

इधर पिछले कुछ 15 सालों में पैग़म्बर स.अ. की शख़्सियत को कम करने के लिए कभी कार्टून तो कभी फ़िल्म तो कभी किसी लेटेरेचर का सहारा लिया गया, लेकिन साम्राज्यवाद के हाथों की कठपुतली जो कुछ डॉलर और पौंड की ...

18 April 2019 05:48 pm1 Hit

रिश्वत यानी समाज की बर्बादी

रिश्वत देना लेना या रिश्वत पहुंचाने के लिए दलाली करना हराम है, हाकिम, जज, सरकारी कर्मचारी या किसी भी पद पर बैठने वाले को बिना किसी लालच के अपने फ़र्ज़ को निभाना चाहिए और अपनी ज़िम्मेदारी अदा करनी चाहि ...

18 April 2019 05:33 pm3 Hit