Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 97525
Date of publication : 9/4/2016 17:25
Hit : 192

तेहरान में ईरान-भारत के पेट्रोलियम मंत्रियों की मुलाक़ात।

ईरान दौरे पर आए भारतीय पेट्रोलियम मंत्री ने तेहरान में अपने ईरानी समकक्ष से मुलाक़ात में तेल और ऊर्जा के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच सहयोग के सिलसिले पर बातचीत की।


विलायत पोर्टलः ईरान दौरे पर आए भारतीय पेट्रोलियम मंत्री ने तेहरान में अपने ईरानी समकक्ष से मुलाक़ात में तेल और ऊर्जा के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच सहयोग के सिलसिले पर बातचीत की। भारतीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने सोमवार को ईरानी पेट्रोलियम मंत्री बीजन नामदार ज़न्गने से मुलाक़ात में, ‘फ़रज़ाद-बी’ गैस फ़ील्ड के विकास, भारत पर ईरान की तेल की बक़ाया राशि, समुद्री रास्ते से गैस के निर्यात और दक्षिण-पूर्वी ईरान के चबहार इलाक़े में पेट्रोकेमिकल इकाइयों के निर्माण के विषय विचार विमर्श किया। भारतीय पेट्रोलियम मंत्री का ईरान के उद्योग, खनन व व्यापार मंत्री मोहम्मद रज़ा नेमतज़ादे, केन्द्रीय बैंक के प्रबंधक निदेशक वलीयुल्ला सैफ़ और आज़ाद व्यापारिक-उद्योगिक इलाक़ों की समन्वय परिषद के सचिव अकबर तुर्कान से मुलाक़ात तथा ईरान के वाणिज्य कक्ष में ईरान-भारत के व्यापारियों की संयुक्त बैठक में भाग लेने का कार्यक्रम था। ज्ञात रहे चीन के बाद भारत ईरान से सबसे ज़्यादा तेल ख़रीदने वाला देश है। भारत ईरान के पेट्रोकेमिकल क्षेत्र में विकास व पूंजिनिवेश की परियोजनाओं सहित ऊर्जा के अलग-अलग क्षेत्रों की परियोजनाओं में शामिल होने में ख़्वाहिश रखता है।
..................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अरब शासकों को ट्रम्प का आदेश, दमिश्क़ से संबंध सुधारो। इस्राईल के हमले नहीं रुके तो दमिश्क़ तल अवीव एयरपोर्ट को निशाना बनाने के लिए तैयार : बश्शार क़ुद्स को राजधानी बना कर अलग फ़िलिस्तीन राष्ट्र का गठन हो : चीन अय्याश सऊदी युवराज बिन सलमान ने माँ के बाद अब अपने भाई को बंदी बनाया। क़ासिम सुलेमानी के आदेश पर सीरिया ने इस्राईल पर मिसाइल दाग़े : ज़ायोनी मीडिया यूरोपीय यूनियन के ख़िलाफ़ बश्शार असद का बड़ा क़दम, राजनयिकों का विशेष वीज़ा किया रद्द। अमेरिकी सेना ने माना, इराक युद्ध का एकमात्र विजेता है ईरान । बर्नी सैंडर्स की मांग, सऊदी तानाशाही की नकेल कसे विश्व समुदाय । ईरान विरोधी बैठकों से कुछ हासिल नहीं, यादगारी तस्वीरें लेते रहे नेतन्याहू । हसन नसरुल्लाह का लाइव इंटरव्यू होगा प्रसारित,सऊदी इस्राईली मीडिया की हवा निकली । आले ख़लीफ़ा का यूटर्न , कभी भी दमिश्क़ विरोधी नहीं था बहरैन इदलिब , नुस्राह फ्रंट के ठिकानों पर रूस की भीषण बमबारी । हश्दुश शअबी की कड़ी चेतावनी, आग से न खेले तल अवीव,इस्राईल की ईंट से ईंट बजा देंगे । दमिश्क़ पर फिर हमला, ईरानी हित थे निशाने पर, जौलान हाइट्स पर सीरिया ने की जवाबी कार्रवाई । नहीं सुधर रहा इस्राईल, दमिश्क़ के उपनगरों पर फिर किया हमला।