Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 95859
Date of publication : 29/2/2016 18:14
Hit : 148

तालेबान के 130 सदस्यों ने हथियार डाले।

एक अफ़ग़ान अधिकारी ने एलान किया है कि तालेबान के लगभग 130 सदस्यों ने इस देश के उत्तर में सैनिकों के सामने आत्म समर्पण कर दिया।


विलायत पोर्टलः एक अफ़ग़ान अधिकारी ने एलान किया है कि तालेबान के लगभग 130 सदस्यों ने इस देश के उत्तर में सैनिकों के सामने आत्म समर्पण कर दिया। समाचार एजेन्सी शिन हूवा की रिपोर्ट के अनुसार अफ़ग़ानिस्तान के फारयाब प्रांत के गवर्नर सैयद अनवर सादात ने कहा है कि तालेबान के 130 सदस्यों ने हिंसा का रास्ता छोड़कर सैनिकों के सामने हथियार डाल दिया और वे शांति प्रक्रिया से जुड़ गए हैं और हम उनके इस कदम का स्वागत करते हैं। उन्होंने कहा कि स्थानीय सरकार इन लोगों की मदद करने में किसी तरह के परेशानी से काम नहीं लेगी। ये लोग फारयाब प्रांत के खाजा सब्ज़पोश इलाक़े में चरमपंथी गतिविधियां अंजाम देते हैं। तालेबान के इन सदस्यों ने इसी तरह बंदूकों और दूसरे हथियारों व गोला बारुद को सुरक्षा बलों के हवाले कर दिया। तालेबान गुट ने अभी तक इस सिलसिले में कोई प्रतिक्रिया ज़ाहिर नहीं की है। अफ़ग़ान अधिकारियों के मुताबिक़ गत 6 वर्षों के दौरान 10 हज़ार से ज़्यादा तालेबान के सदस्य आत्म समर्पण करके शांति प्रक्रिया से जुड़ गए हैं।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

बहादुर ख़ानदान की बहादुर ख़ातून यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची