Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 95105
Date of publication : 15/2/2016 18:7
Hit : 137

अमरीकी नागरिकों ने की ओबामा पर मुक़दमे चलाए जाने की मांग।

हज़ारों अमरीकी नागरिकों ने मांग की है कि युद्ध अपराध की वजह से देश के राष्ट्रपति बराक ओबामा पर मुक़द्दमा चलाया जाए।


विलायत पोर्टलः हज़ारों अमरीकी नागरिकों ने मांग की है कि युद्ध अपराध की वजह से देश के राष्ट्रपति बराक ओबामा पर मुक़द्दमा चलाया जाए। अमरीका में एक हस्ताक्षर अभियान पर 8500 लोगों के हस्ताक्षर किए हैं। प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार अमरीकियों ने वाइट हाऊस की आधिकारिक वेबसाइट पर हस्ताक्षर अभियान जारी करके युद्ध अपराध के आरोप में बराक ओबामा पर मुक़द्दमा चलाए जाने की मांग की है। इस पर अबतक आठ हज़ार पांच सौ लोगों ने हस्ताक्षर किए हैं। इस अपील में आया है कि अमरीका के वर्तमान राष्ट्रपति, लीबिया पर आक्रमण, सीरिया में अलक़ायदा से संबंधित आतंकियों का समर्थन करने, ग्वान्तानामो जेल बंद न करने तथा नागरिकों के बारे में जानकारी एकत्रित करने जैसे कामों के ज़िम्मेदार हैं। हस्ताक्षर करने वालों कहा है कि हम चाहते हैं कि युद्ध अपराध की वजह से बराक ओबामा को अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट भेजा जाए। इसमें कहा गया है कि ओबामा ने न सिर्फ़ अमरीकी नागरिकों के विरुद्ध बल्कि पूरी दुनिया के विरुद्ध युद्ध अपराध किया है। यह हस्ताक्षर अभियान 8 फ़रवरी से शुरू हुआ है। यदि 9 मार्च तक इसपर हस्ताक्षर करने वालों की संख्या 1 लाख तक पहुंच गई तो इसकी समीक्षा की जाएगी।
.................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....