हिंदुस्तान में सुप्रीम लीडर के प्रतिनिधि का दफ़तर
چهارشنبه - 2019 مارس 27
हिंदुस्तान में सुप्रीम लीडर के प्रतिनिधि का दफ़तर
Languages
Delicious facebook RSS ارسال به دوستان نسخه چاپی  ذخیره خروجی XML خروجی متنی خروجی PDF
کد خبر : 82057
تاریخ انتشار : 3/9/2015 19:8
تعداد بازدید : 67

ISIL ईरान की सीमाओं के क़रीब होने में नाकाम

ईरान के थल सेनाध्यक्ष ने कहा है कि सेना की तैयारी के कारण, ईरान की सीमाओं के निकट होने का आईएसआईएल की कोशिश नाकाम रही है।


विलायत पोर्टलः ईरान के थल सेनाध्यक्ष ने कहा है कि सेना की तैयारी के कारण, ईरान की सीमाओं के निकट होने का आईएसआईएल की कोशिश नाकाम रही है। ब्रिगेडियर जनरल अहमद रज़ा पूरदस्तान ने बुधवार को थल सेना के कुछ कमांडरों के साथ एक बैठक में अमरीका द्वारा क्षेत्र में आतंकी व तकफ़ीरी गुटों के समर्थन की ओर संकेत करते हुए कहा कि अमरीका अब तक क्षेत्र में कड़े सैन्य युद्ध में विफल रहा है और उसने विवश हो कर अपनी रणनीति बदल दी है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में अमरीका की नई रणनीति, धार्मिक युद्ध छेड़ने की है और इस परिप्रेक्ष्य में उसने तकफ़ीरी व आतंकी गुटों को अस्तित्व प्रदान किया और उनका समर्थन किया है। ईरान के थल सेनाध्यक्ष ने कहा कि सेना आतंकी गुटों की सभी गतिविधियों पर गहरी दृष्टि रखे हुए है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में आतंकी गुट आईएसआईएल की कार्यवाहियों और धमकियों का उद्देश्य इस्लाम की छवि को बिगाड़ना है। ब्रिगेडियर जनरल अहमद रज़ा पूरदस्तान ने ईरान से अमरीका की शत्रुता लागातार जारी रहने की तरफड इशारा करते हुए कहा कि यह शत्रुता बहुत गहरी है क्योंकि अतिग्रहणकारी ज़ायोनी शासन, अमरीका की रेड लाइन है और इस्लामी रिपब्लिक ईरान को बच्चों की हत्या करने वाले इस्राईली शासन से समस्या है। ................
तेहरान रेडियो


نظر شما



نمایش غیر عمومی
تصویر امنیتی :