Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 81743
Date of publication : 30/8/2015 19:30
Hit : 275

ईरान सभी देशों से अच्छे संबंध बनाना चाहता हैः रूहानी

इस्लामी रिपब्लिक ईरान के राष्ट्रपति ने कहा है कि उनकी सरकार के क़दमों से ईरान से डराने की योजना विफल हो गई है और ईरान को खतरा दर्शाने का प्रयास अपने अंत की तरफ़ बढ़ रहा है।

विलायत पोर्टलः इस्लामी रिपब्लिक ईरान के राष्ट्रपति ने कहा है कि उनकी सरकार के क़दमों से ईरान से डराने की योजना विफल हो गई है और ईरान को खतरा दर्शाने का प्रयास अपने अंत की तरफ़ बढ़ रहा है। राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने शनिवार को राजधानी तेहरान में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ईरान और विश्व में एक शांतिप्रेमी देश समझा जाता है और ईरानोफोबिया आख़िरी सांसे ले रहा है। राष्ट्रपति रूहानी ने अपनी सरकार की सफलताओं का भी उल्लेख किया और महंगाई, सामाजिक सुरक्षा तथा रोज़गार के क्षेत्र में अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि उनकी सरकार ने देश में पानी के संकट को दूर करने की दिशा में भी प्रभावी क़दम उठाए हैं। राष्ट्रपति रूहानी ने, प्रतिबंधों के हटने के बाद आयात व विदेशी उत्पादनों की बाढ़ और प्रतिरोधक अर्थ व्यवस्था के बीच तालमेल बिठाने के बारे में पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि प्रतिबंध हटने के बाद अन्य देशों से पुंजीनिवेश और तकनीक की ईरान आएगी। उन्होंने परमाणु सहमति को संसद में पेश किये जाने के बारे में पूछे गए एक प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि ईरान के संविधान के अनुसार किसी भी समझौते को उस समय संसद में पारित करने के लिए पेश किया जाता है जब उस पर देश के राष्ट्रपति या उसके प्रतिनिधि के हस्ताक्षर हों लेकिन गुट पांच धन एक के सदस्य देशों और ईरान के मध्य परमाणु सहमति के सिलसिले में ऐसा नहीं हुआ है। उन्होंने एक दूसरे सवाल का उत्तर देते हुए कहा कि ईरान रक्षा के क्षेत्र में किसी भी तरह की सीमा को स्वीकार नहीं करेगा। ईरानी राष्ट्रपति ने बल दिया कि क्षेत्र के सभी देशों को मालूम होना चाहिए कि तेहरान परमाणु हथियारों के प्रयास में न कभी रहा है और न रहेगा बल्कि ईरान सभी क्षेत्रीय देशों के साथ अच्छे संबंधों के लिए कोशिश कर रहा है। सऊदी अरब के साथ संबंधों के बारे में पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि हम सऊदी अरब के साथ अच्छे संबंधों के इच्छुक हैं किंतु यमन पर सऊदी सरकार के हमलों सहित कई मुद्दे, संबंध विस्तार की राह में रुकावट हैं। राष्ट्रपति रूहानी ने अमरीका और इस्राईल की ओर से ईरान के विरुद्ध सैन्य धमकियों के बारे में पूछे गए एक प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि ईरान को किसी भी तरह का सैन्य खतरा नहीं है और अब अंतरराष्ट्रीय कानून के सहारे ईरान के विरुद्ध सैन्य कार्यवाही का खतरा नहीं है। इसके साथ भी उन्होंने बल दिया कि ईरान हर प्रकार की स्थिति का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

क़तर का बड़ा क़दम, ईरान और दमिश्क़ समेत 5 देशों का गठबंधन बनाने की पेशकश एमनेस्टी इंटरनेशनल ने आंग सान सू ची से सर्वोच्च सम्मान वापस लिया ईरान की सैन्य क्षमता को रोकने में असफल रहेंगे अमेरिकी प्रतिबंध : एडमिरल हुसैन ख़ानज़ादी फिलिस्तीन, ज़ायोनी हमलों में 15 शहीद, 30 से अधिक घायल ग़ज़्ज़ा में हार से बौखलाए ज़ायोनी राष्ट्र ने हिज़्बुल्लाह को दी हमले की धमकी आले सऊद ने अब ट्यूनेशिया में स्थित सऊदी दूतावास में पत्रकार को बंदी बनाया मैक्रॉन पर ट्रम्प का कड़ा कटाक्ष, हम न होते तो पेरिस में जर्मनी सीखते फ़्रांस वासी इस्राईल शांति चाहता है तो युद्ध मंत्री लिबरमैन को तत्काल बर्खास्त करे : हमास हश्दुश शअबी ने सीरिया में आईएसआईएस के खिलाफ अभियान छेड़ा, कई ठिकानों को किया नष्ट ग़ज़्ज़ा पर हमले न रुके तो तल अवीव को आग का दरिया बना देंगे : नौजबा मूवमेंट यमन और ग़ज़्ज़ा पर आले सऊद और इस्राईल के बर्बर हमले जारी फिलिस्तीनी दलों ने इस्राईल के घमंड को तोडा, सीमा पर कई आयरन डॉम तैनात अज़ादारी और इंतेज़ार का आपसी रिश्ता रूस इस्लामी देशों के साथ मधुर संबंध का इच्छुक : पुतिन आले खलीफा शासन ने 4 नागरिकों को मौत की सजा सुनाई