Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 81094
Date of publication : 20/8/2015 17:7
Hit : 323

इराक़-अफगानिस्तान विभाजन की अमरीकी साज़िश नाकाम

इस्लामी रिपब्लिक ईरान के रेडियो और टीवी विभाग के प्रमुख डाक्टर सरफराज़ ने कहा है कि हमारे क्षेत्र में होने वाले परिवर्तनों के बाद कि जिसका उद्देश्य क्षेत्रीय देशों पर क़ब्ज़ा था प्राक्सी वार तक पहुंचे और यह प्रक्रिया इराक व अफगानिस्तान पर अमरीकी हमले से शुरू हुई और आज तकफ़ीरी आतंकवादियों तक पहुंची।

विलायत पोर्टलः इस्लामी रिपब्लिक ईरान के रेडियो और टीवी विभाग के प्रमुख डाक्टर सरफराज़ ने कहा है कि हमारे क्षेत्र में होने वाले परिवर्तनों के बाद कि जिसका उद्देश्य क्षेत्रीय देशों पर क़ब्ज़ा था प्राक्सी वार तक पहुंचे और यह प्रक्रिया इराक व अफगानिस्तान पर अमरीकी हमले से शुरू हुई और आज तकफ़ीरी आतंकवादियों तक पहुंची। इस्लामी रेडियो और टीवी संघ के सम्मेलन में बोलते हुए डाक्टर सरफ़राज़ ने कहा कि इन युद्धों में हमारा सामना शक्तिशाली क्षेत्रीय व अंतरराष्ट्रीय संचार माध्यमों से था जो दिखने में अलग अलग थे लेकिन एक ही उद्देश्य के लिए काम करते थे। उन्होंने कहा कि सीधे सैनिक हमलों और क्षेत्र में सैन्य छावनियां बनाने के बावजूद अमरीका की नाकामी के बाद पश्चिम ने ईरान पर ध्यान दिया और उसकी समझ में आया कि उसकी विफलता का एक मुख्य कारण , इस्लामी रिपब्लिक ईरान है इस लिए ईरान के भीतर समस्याएं खड़ी की गईं। आईआरआईबी के प्रमुख ने इन्टरनेट और सोशल मीडिया के प्रभाव पर रोशनी डालते हुए कहा कि इस युद्ध में सोशल मीडिया की मदद से जाल फैलाया गया ताकि उसमें हमारे अपने लोगों को फंसा का उन्हें देश का दुश्मन बना दिया जाए। उन्होंने आईएसआईएल के प्रचार में पश्चिमी देशों के संचार माध्यमों की भूमिका का उल्लेख करते हुए कहा कि आज हम आईएसआईएल को जैसा देख रहे हैं वह वास्तव में पश्चिमी मीडिया की देन है क्योंकि अगर पश्चिमी मीडिया इस खोखले राक्षस का इतना और इस तरह से प्रचार न करते तो आज आईएसआईएल नाम की कोई चीज़ न होती। डाक्टर सरफराज़ ने मीडिया पर पश्चिम के एकाधिकार को खत्म करने की आवश्यकता पर ज़ोर दिया।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

बीवी क्या करे कि घर जन्नत की मिसाल हो ज़ायोनी युद्ध मंत्री लिबरमैन का इस्तीफ़ा, ग़ज़्ज़ा की राजनैतिक जीत : हमास अमेरिका की चीन को धमकी, हमारी मांगे नहीं मानी तो शीत युद्ध के लिए रहो तैयार देश को मुश्किलों से उभारना है तो राष्ट्रीय क्षमताओं का सही उपयोग करना होगा : आयतुल्लाह ख़ामेनई अय्याश सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान है ग़ज़्ज़ा पर वहशियाना हमलों का मास्टर माइंड : मिडिल ईस्ट आई आईएसआईएस के चंगुल से छुड़ाए गए लोगों से मिले राष्ट्रपति बश्शार असद ग़ज़्ज़ा में हार से निराश इस्राईल के युद्ध मंत्री ने दिया इस्तीफ़ा ज़ायोनी मीडिया ने माना, तल अवीव हार गया, हमास अपने उद्देश्यों में सफल क़तर का बड़ा क़दम, ईरान और दमिश्क़ समेत 5 देशों का गठबंधन बनाने की पेशकश एमनेस्टी इंटरनेशनल ने आंग सान सू ची से सर्वोच्च सम्मान वापस लिया ईरान की सैन्य क्षमता को रोकने में असफल रहेंगे अमेरिकी प्रतिबंध : एडमिरल हुसैन ख़ानज़ादी फिलिस्तीन, ज़ायोनी हमलों में 15 शहीद, 30 से अधिक घायल ग़ज़्ज़ा में हार से बौखलाए ज़ायोनी राष्ट्र ने हिज़्बुल्लाह को दी हमले की धमकी आले सऊद ने अब ट्यूनेशिया में स्थित सऊदी दूतावास में पत्रकार को बंदी बनाया मैक्रॉन पर ट्रम्प का कड़ा कटाक्ष, हम न होते तो पेरिस में जर्मनी सीखते फ़्रांस वासी