Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 79080
Date of publication : 21/7/2015 12:58
Hit : 300

अंबार में तकफ़ीरी आतंकवादियों का घेरा तंग

इराक़ी सेना अंबार प्रांत में तकफ़ीरी आतंकवादियों के ख़िलाफ़ घेरा तंग करती जा रही है।


विलायत पोर्टलः इराक़ी सेना अंबार प्रांत में तकफ़ीरी आतंकवादियों के ख़िलाफ़ घेरा तंग करती जा रही है। अलमयादीन टीवी चैनल की रिपोर्ट के अनुसार इराक़ के स्वयंसेवी बल के प्रवक्ता करीम नूरी ने कहा कि इराक़ी सेना की प्रगति के नतीजे में आईएसआईएल के आतंकियों के लिए संपर्क का रास्ता बंद हो चुका है। उन्होंने बल दिया कि फ़ल्लूजा शहर के नागरिकों को सुरक्षित रूप से बाहर निकालने का मार्ग उपलब्ध होने के बाद फ़ल्लूजा शहर को आज़ाद कराया जाएगा। इराक़ी रक्षा मंत्रालय के हवाले से एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, फ़ल्लूजा में तकफ़ीरी आतंकियों के ठिकानों पर इराक़ी सेना ने रॉकेट से हमला किया जिसके दौरान वहां मौजूद 18 ज़ायोनी आतंकी मारे गए। इराक़ी सुरक्षाबलों ने इसी प्रकार आतंकियों के नाकेबंदी को तोड़ने की कोशिश के अन्तर्गत किए गए हमले को नाकाम बनाया जिसके दौरान 12 आतंकी ढेर हो गए। एक इराक़ी पुलिस अधिकारी शाकिर जूदत ने बताया कि रमादी शहर के उपनगरीय इलाक़े में इराक़ी सेना की कार्यवाही में आईएसआईएल के 14 स्नाइपर मारे गए और अनेक घायल हुए। उन्होंने बताया कि आईएसआईएल के 15 आतंकियों को उस वक़्त पकड़ा गया जब वे पश्चिमी इराक़ में हबानिया की ओर पीछे हट रहे थे। शाकिर जूदत ने बताया कि इराक़ी सैनिकों ने आईएसआईएल के उस ठिकाने पर हमला किया जहां उसके 20 स्नाइपर मौजूद थे।
................
 तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....