Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 79080
Date of publication : 21/7/2015 12:58
Hit : 279

अंबार में तकफ़ीरी आतंकवादियों का घेरा तंग

इराक़ी सेना अंबार प्रांत में तकफ़ीरी आतंकवादियों के ख़िलाफ़ घेरा तंग करती जा रही है।

विलायत पोर्टलः इराक़ी सेना अंबार प्रांत में तकफ़ीरी आतंकवादियों के ख़िलाफ़ घेरा तंग करती जा रही है। अलमयादीन टीवी चैनल की रिपोर्ट के अनुसार इराक़ के स्वयंसेवी बल के प्रवक्ता करीम नूरी ने कहा कि इराक़ी सेना की प्रगति के नतीजे में आईएसआईएल के आतंकियों के लिए संपर्क का रास्ता बंद हो चुका है। उन्होंने बल दिया कि फ़ल्लूजा शहर के नागरिकों को सुरक्षित रूप से बाहर निकालने का मार्ग उपलब्ध होने के बाद फ़ल्लूजा शहर को आज़ाद कराया जाएगा। इराक़ी रक्षा मंत्रालय के हवाले से एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, फ़ल्लूजा में तकफ़ीरी आतंकियों के ठिकानों पर इराक़ी सेना ने रॉकेट से हमला किया जिसके दौरान वहां मौजूद 18 ज़ायोनी आतंकी मारे गए। इराक़ी सुरक्षाबलों ने इसी प्रकार आतंकियों के नाकेबंदी को तोड़ने की कोशिश के अन्तर्गत किए गए हमले को नाकाम बनाया जिसके दौरान 12 आतंकी ढेर हो गए। एक इराक़ी पुलिस अधिकारी शाकिर जूदत ने बताया कि रमादी शहर के उपनगरीय इलाक़े में इराक़ी सेना की कार्यवाही में आईएसआईएल के 14 स्नाइपर मारे गए और अनेक घायल हुए। उन्होंने बताया कि आईएसआईएल के 15 आतंकियों को उस वक़्त पकड़ा गया जब वे पश्चिमी इराक़ में हबानिया की ओर पीछे हट रहे थे। शाकिर जूदत ने बताया कि इराक़ी सैनिकों ने आईएसआईएल के उस ठिकाने पर हमला किया जहां उसके 20 स्नाइपर मौजूद थे।
................
 तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

दीन के बाक़ी रहने का राज़ अहलेबैत अ.स. की मोहब्बत में है अमेरिका ने लगाई गुहार, ईरान का मुक़ाबला करने के लिए एकजुट हों अरब देश ईरान को छोड़ो सऊदी अरब की लगाम कसना बहुत ज़रूरी : रैंड पॉल इराक की धरती को ईरान के हितों को चोट पहुँचाने के लिए भी प्रयोग नहीं होने देंगे : बरहम सालेह दमिश्क़, आम लोगों पर मौत बनकर बरसे अमेरिकी विमान, 40 से अधिक की मौत। इस्राईल का भविष्य दांव पर, अकेले कई अरब देशों को हराना वाला अवैध राष्ट्र आज हमास से नहीं जीत सकता : ज़ायोनी सैन्याधिकारी ट्रम्प की एक और हार, अदालत ने दिया सीएनएन पत्रकार का पास जारी करने का आदेश ट्रम्प, बिन सलमान, और नेतन्याहू के शैतानी त्रिकोण को संकट का सामना : हिज़्बुल्लाह आईएसआईएस इस्लाम का प्रतीक नहीं, हरमैन शरीफ़ैन के साथ विश्वासघात कर रहे हैं आले सऊद सऊदी के बाद आर्थिक मदद मांगने संयुक्त अरब अमीरात जाएंगे इमरान खान ख़ाशुक़जी का सर काट कर रियाज़ ले गए थे सऊदी हत्यारे । बस एक साल, और हिज़्बुल्लाह की तरह शक्तिशाली होगा हमास : लिबरमैन इस्राईल को दमिश्क़ का कड़ा संदेश, जौलान सीरिया का है और हम जानते हैं उसे कैसे लेना है । इमाम हसन असकरी अ.स. की ज़िंदगी पर एक निगाह अमेरिका का युग बीत गया, पश्चिम एशिया से विदाई की तैयारी कर ले : मेजर जनरल मूसवी