Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 78836
Date of publication : 16/7/2015 2:32
Hit : 267

यूरेनियम संवर्धन के अधिकार को सुरक्षा परिषद से मिलेगी मान्यता

विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने कहा है कि अगले सप्ताह सुरक्षा परिषद यूरेनियम संवर्धन के ईरान के अधिकार को मान्यता दे देगी।


विलायत पोर्टलः विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने कहा है कि अगले सप्ताह सुरक्षा परिषद यूरेनियम संवर्धन के ईरान के अधिकार को मान्यता दे देगी। विदेश मंत्री ज़रीफ़ ने कहा कि परमाणु वार्ता के कई पहलू, विशेषताएं और विशिष्टताएं हैं जिन्हें बाद में बयान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगले हफ़्ते सुरक्षा परिषद एक प्रस्ताव पारित करके ईरान के यूरेनियम संवर्धन के अधिकार को मान्यता देगी। बुधवार को तेहरान के मेहराबाद हवाई अड्डे पहुंचने के बाद पत्रकारों से बातचीत में जवाद ज़रीफ़ ने कहा कि मैं ईरान की जनता, इस्लामी रिवालयूशन के सुप्रीम लीडर और अन्य अधिकारियों को सलाम करता हूं। जवाद ज़रीफ़ ने कहा कि हमने वार्ता इस स्थान से शुरू की थी कि सुरक्षा परिषद ने अपने अन्यायपूर्ण प्रस्तावों से ईरान के शांतिपूर्ण परमाणु कार्यक्रम को एक चिंता के रूप में पेश कर दिया था और ईरान की जनता से मांग की थी कि वह अपने परमाणु अधिकारों को छोड़ दे लेकिन अगले हफ़्ते सुरक्षा परिषद एक प्रगतिशील देश के यूरेनियम संवर्धन के कार्यक्रम को मान्यता देगी और यह सफलता ईरान की जनता के प्रतिरोध और इस प्रमाण के नतीजे में मिली है कि ईरान की जनता पर दबाव नहीं डाला जा सकता। विदेश मंत्री ज़रीफ़ ने कहा कि हम ऐसे समझौते तक पहुंचे हैं जिसकी आने वाले दिनों में सुरक्षा परिषद में पुष्टि की जाएगी और उसके बाद समझौते पर अमल की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि इस पूरी प्रक्रिया में इस्लामी रिवालयूशन के सुप्रीम लीडर द्वारा निर्धारित रेडलाइनों का पूर ख़याल रखा गया है। जवाद ज़रीफ़ ने कहा कि वार्ता लेन देन का नाम है और इस लेन देन में हमें अच्छी सफलताएं मिली हैं।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

इंसान मौत के समय किन किन चीज़ों को देखता है? हिटलर की भांति विरोधी विचारधारा को कुचल रहे हैं ट्रम्प । ईरान, आत्मघाती हमलावर और आतंकी टीम में शामिल दो सदस्य पाकिस्तानी : सरदार पाकपूर सीरिया अवैध राष्ट्र इस्राईल निर्मित हथियारों की बड़ी खेप बरामद । ईरान को CPEC में शामिल कर सऊदी अरब और अमेरिका को नाराज़ नहीं कर सकता पाकिस्तान। भारत पहुँच रहा है वर्तमान का यज़ीद मोहम्मद बिन सलमान, कई समझौतों पर होंगे हस्ताक्षर । ईरान के कड़े तेवर , वहाबी आतंकवाद का गॉडफादर है सऊदी अरब अर्दोग़ान का बड़ा खुलासा, आतंकवादी संगठनों को हथियार दे रहा है नाटो। फिलिस्तीन इस्राईल मद्दे पर अरब देशों के रुख में आया है बदलाव : नेतन्याहू बहादुर ख़ानदान की बहादुर ख़ातून यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से