Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 78656
Date of publication : 13/7/2015 19:34
Hit : 402

यमन पर सऊदी हमलों के ख़िलाफ़ यूरोप की टूटी चुप्पी

यमन पर 110 दिनों से जारी सऊदी शासन के पाशविक हमलों के ख़िलाफ़ यूरोपीय संसद ने अपनी चुप्पी तोड़ी है।


विलायत पोर्टलः यमन पर 110 दिनों से जारी सऊदी शासन के पाशविक हमलों के ख़िलाफ़ यूरोपीय संसद ने अपनी चुप्पी तोड़ी है। यूरोपीय संसद ने यमन पर सउदी अरब के जारी हमलों की निंदा करते हुए इन हमलों को तुरंत बंद किए जाने की मांग की है। अल-आलम टीवी की रिपोर्ट के अनुसार यूरोपीय संसद ने एक प्रस्ताव पारित करके यमन पर जारी सउदी अरब के हमलों की कड़ी निंदा की और हमलों को तुरंत बंद किए जाने की आवश्यकता पर बल दिया है। यूरोपीय संसद ने एक बयान जारी करके यमन पर सउदी अरब के हमलों और इस देश की समुद्री और ज़मीनी घेराबंदी की भी निंदा की है। यूरोपीय संसद की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि यमन की जनता अपने मतभेदों का समाधान बातचीत के माध्यम से करे और विदेशी पक्ष भी यमन में सकारात्मक भूमिका अदा करें। यूरोपीय संसद ने यमन के ऐतिहासिक स्थलों पर हमले से बचने की ज़रूरत पर भी बल दिया है। यूरोपीय संसद ने अपने बयान में सनआ और सआदा की मस्जिदों पर तकफ़ीरी आतंकवादी गुट आईएसआईएल के हमलों की निंदा की और कहा कि आईएसआईएल तथा अल-क़ायदा यमन की सुरक्षा की स्थिति का दुरूपयोग करते हुए यमन में अपनी गतिविधियों को बढ़ा रहे हैं। यूरोपीय संसद द्वारा पारित प्रस्ताव में यह वादा किया गया है कि यूरोपीय संसद, यमन में संघर्ष विराम और बातचीत शुरू करने से संबंधित संयुक्त राष्ट्र और यमन के मामले में राष्ट्र संघ के प्रतिनिधि इस्माइल वलद शेख़ अहमद और उस्मान के प्रयासों का समर्थन करती है।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हिटलर की भांति विरोधी विचारधारा को कुचल रहे हैं ट्रम्प । ईरान, आत्मघाती हमलावर और आतंकी टीम में शामिल दो सदस्य पाकिस्तानी : सरदार पाकपूर सीरिया अवैध राष्ट्र इस्राईल निर्मित हथियारों की बड़ी खेप बरामद । ईरान को CPEC में शामिल कर सऊदी अरब और अमेरिका को नाराज़ नहीं कर सकता पाकिस्तान। भारत पहुँच रहा है वर्तमान का यज़ीद मोहम्मद बिन सलमान, कई समझौतों पर होंगे हस्ताक्षर । ईरान के कड़े तेवर , वहाबी आतंकवाद का गॉडफादर है सऊदी अरब अर्दोग़ान का बड़ा खुलासा, आतंकवादी संगठनों को हथियार दे रहा है नाटो। फिलिस्तीन इस्राईल मद्दे पर अरब देशों के रुख में आया है बदलाव : नेतन्याहू बहादुर ख़ानदान की बहादुर ख़ातून यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी....