Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 78633
Date of publication : 13/7/2015 14:46
Hit : 333

बग़दाद, ख़ूनी रविवार में 40 की मौत 80 घायल

इराक़ की राजधानी बग़दाद में लगातार बम धमाकों में कम से कम 40 लोगों की मौत हो गई और 80 अन्य घायल हो गए हैं।


विलायत पोर्टलः इराक़ की राजधानी बग़दाद में लगातार बम धमाकों में कम से कम 40 लोगों की मौत हो गई और 80 अन्य घायल हो गए हैं। रविवार को पहला विस्फ़ोट इमाम मूसा काज़िम (अ) के रौज़े के निकट स्थित अदन चौक पर हुआ, जहां एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फ़ोटक पदार्थों से लदी कार को धमाके से उड़ा दिया। यह आत्मघाती विस्फ़ोट एक चेक पोस्ट के निकट हुआ, जिसमें 3 सुरक्षाकर्मियों और वहां से गुज़र रहे 5 आम नागरिकों की जानें चली गईं। इस आतंकवादी हमले में 23 लोग घायल भी हुए हैं। दूसरा धमाका अल-असकन इलाक़े की एक भीड़ भाड़ वाली सड़क पर उस समय हुआ जब लोग रोज़ा खोलने की तैयारी कर रहे थे। इस हमले में कम से कम 4 लोग मारे गए और 11 अन्य घायल हो गए। तीसरा धमाका अल-अमल इलाक़े की एक व्यवसायिक सड़क पर रोड के किनारे छुपाकर रखे गए बम से किया गया। इस हमले में 2 लोगों के मारे जाने और 7 के घायल होने की ख़बर है। शाब इलाक़े में हुए कार बम विस्फ़ोट में 10 लोग मारे गए और दर्जनों अन्य घायल हो गए। विस्फ़ोट के बाद, जब लोग पीड़ितों की सहायता के लिए घटनास्थल पर जमा हुए तो एक आत्मघाती आतंकवादी ने ख़ुद को धमाके से उड़ा दिया, जिसके कारण 9 लोगों की जान चली गई और 25 अन्य घायल हो गए। बानकूक इलाक़े में रोड के किनारे रखे गए बम धमाके में 6 लोग मारे गए और 15 अन्य घायल हो गए।
 ................
 तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

इंसान मौत के समय किन किन चीज़ों को देखता है? हिटलर की भांति विरोधी विचारधारा को कुचल रहे हैं ट्रम्प । ईरान, आत्मघाती हमलावर और आतंकी टीम में शामिल दो सदस्य पाकिस्तानी : सरदार पाकपूर सीरिया अवैध राष्ट्र इस्राईल निर्मित हथियारों की बड़ी खेप बरामद । ईरान को CPEC में शामिल कर सऊदी अरब और अमेरिका को नाराज़ नहीं कर सकता पाकिस्तान। भारत पहुँच रहा है वर्तमान का यज़ीद मोहम्मद बिन सलमान, कई समझौतों पर होंगे हस्ताक्षर । ईरान के कड़े तेवर , वहाबी आतंकवाद का गॉडफादर है सऊदी अरब अर्दोग़ान का बड़ा खुलासा, आतंकवादी संगठनों को हथियार दे रहा है नाटो। फिलिस्तीन इस्राईल मद्दे पर अरब देशों के रुख में आया है बदलाव : नेतन्याहू बहादुर ख़ानदान की बहादुर ख़ातून यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से