Friday - 2018 June 22
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 76735
Date of publication : 8/6/2015 17:51
Hit : 321

इस्राईली जेलों में 93 फ़िलिस्तीनी बच्चे क़ैद

इस वक़्त इस्राईल की ओफ़र जेल में 93 फ़िलिस्तीनी बच्चे क़ैद हैं जिनमें 8 बच्चों को अलग-अलग सज़ा दी गयी है जबकि बाक़ी को अभी सज़ा नहीं सुनायी गयी है।


विलायत पोर्टलः इस वक़्त इस्राईल की ओफ़र जेल में 93 फ़िलिस्तीनी बच्चे क़ैद हैं जिनमें 8 बच्चों को अलग-अलग सज़ा दी गयी है जबकि बाक़ी को अभी सज़ा नहीं सुनायी गयी है। तथाकथित स्वशासित फ़िलिस्तीनी प्रशासन की बंदियों के मामले की समिति ने एक रिपोर्ट में कहा कि पश्चिमी तट के रामल्ला नगर के निकट स्थित ओफ़र जेल में 28 बच्चे कई तरह की बीमारियों का शिकार हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार, इस साल के शुरू से मई के आख़िर तक 18 साल से कम उम्र के 161 फ़िलिस्तीनी, इस्राईल की क़ैद में हैं। इनमें से बहुत से क़ैदियों ने उनके साथ इस्राईली सैनिकों द्वारा मानवाधिकार के सख़्त उल्लंघन की शिकायत की है। फ़िलिस्तीनी प्रशासन की क़ैदियों के मामले की समिति के लिए काम करने वाली वकील हेबा मसालेहा ने बताया कि ज़ायोनी सैनिक किशोर क़ैदियों को पूछताछ के वक़्त बहुत तकलीफ़ देते हैं। इस्राईली जेलों में कम से कम 182 फ़िलिस्तीनी नाबालिग़ बच्चे क़ैद हैं जिनमें 26 की उम्र 18 साल से कम है। पिछले साल अंतर्राष्ट्रीय बाल अधिकार संगठन डिफ़ेन्स फ़ॉर चिल्ड्रेन इंटरनेश्नल ने कहा था कि इस्राइली अधिकारी बंदी बनाए गए 93 फ़ीसदी बच्चों को क़ानूनी रास्ता नहीं अपनाने देते। मई में स्वशासित फ़िलिस्तीनी प्रशासन की बंदियों के मामले की समिति सी.पी.ए. की ख़ास ईसा क़राज ने कहा कि पूछताछ करने वाले इस्राईली अधिकारी फ़िलिस्तीनियों को ज़बरदस्ती अपराध क़ुबूल करवाने के लिए बहुत ही ज़ालेमाना तरीक़े अपनाते हैं। ज्ञात रहे कि ज़ायोनी सैनिक पश्चिमी किनारे से फ़िलिस्तीनियों का नियमित रूप से अपहरण कर लेते हैं और उन्हें इस्राईल की तथाकथित प्रशासनिक नज़रबन्दी नीति के तहत जेल में बंद कर देते हैं। इस नीति के तहत इस्राईली सैनिक मुक़द्दमे या इल्ज़ाम ख़त के बिना फ़िलिस्तीनियों को छह महीने के लिए जेल में बंद कर देते हैं। इस मुद्दत को नामालूम वक़्त के लिए बढ़ाया भी जा सकता है। इस वक़्त इस्राईली 17 जेलों में 7000 से ज़्यादा फ़िलिस्तीनी क़ैद हैं जिनमें बहुत से फ़िलिस्तीनियों के ख़िलाफ़ न तो कोई मुक़द्दमा दायर किया गया है और न ही इल्ज़ाम ख़त दाख़िल किया गया है।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :