Wed - 2018 Oct 17
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 75940
Date of publication : 6/6/2015 18:44
Hit : 293

महात्रासदी की ओर ग़ज़्ज़ा पट्टी, विश्व समुदाय ने साधी चुप्पी

हमास के एक लीडर ने कहा है कि ग़ज़्ज़ा पट्टी का परिवेष्टन, अगर जल्दी ही ख़त्म नहीं हुआ तो इस इलाक़े में एक महा त्रासदी पैदा हो सकती है।

विलायत पोर्टलः हमास ने ग़ज़्ज़ा के घेराबंदी के बुरे नतीजे के लिए सचेत किया है। हमास के एक लीडर ने कहा है कि ग़ज़्ज़ा पट्टी की घेराबंदी  , अगर जल्दी ही ख़त्म नहीं हुआ तो इस इलाक़े में एक महा त्रासदी पैदा हो सकती है। मुशीर अलमिस्री ने कहा कि ग़ज़्ज़ा के जारी परिवेष्टन ख़त्म किये जाने की मांग करते हुए कहा है कि इस घेराबंदी ने मानवीय हालत को बहुत ही दयनीय बना दिया है। उन्होंने कहा कि यदि यह परिवेष्टन ख़त्म नहीं किया जाता तो फिर यहां पर महामानवीय त्रासदी हो सकती है। हमास के ही एक अन्य नेता इस्माईल अशक़र ने ग़ज़्ज़ा परिवेष्टन के हवाले से अन्तर्राष्ट्रीय समुदाय के मौन की कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा कि ग़ज़्ज़ा में रहने वाले निर्दोष फ़िलिस्तीनी, बे वजह ही इस बड़ी त्रासदी का शिकार हो रहे हैं। हमास के नेता ने कहा कि विश्व समुदाय, इस परिवेष्टन पर चुप्पी साध कर इसका समर्थन कर रहा है। इस्माईल अशक़र ने फ़िलिस्तीन की तथाकथित राष्ट्रीय सरकार को विफल सरकार बताते हुए स्पष्ट किया कि उसने ग़ज़्ज़ावासियों को परिवेष्टन से मुक्ति दिलाने के मार्ग में कोई भी काम नहीं किया है बल्कि उनकी उम्मीद को नाउम्मीदी में बदल दिया है। हमास के प्रवक्ता फ़ौज़ी बरहूम ने भी फ़िलिस्तीन की तथाकथित राष्ट्रीय सरकार के क्रियाकलापों की निंदा करते हुए कहा है कि इस सरकार ने अपनी सही ज़िम्मेदारियों को भी सही तरह से अदा नही किया है। उन्होंने कहा कि इस सरकार ने प्रतिबंध हटाने के सिल्सिले से कोई काम नहीं किया।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :