Thursday - 2018 Oct 18
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 75693
Date of publication : 31/5/2015 20:6
Hit : 348

ब्रेमर

ओबामा हैं इराक़ के मौजूदा हालत के ज़िम्मेदारः ब्रेमर

इराक़ में अमरीका के पूर्व प्रशासक पॉल ब्रेमर ने कहा है कि इराक़ की वर्तमान स्थिति के ज़िम्मेदार अमरीका के वर्तमान राष्ट्रपति हैं।

विलायत पोर्टलः इराक़ में अमरीका के पूर्व प्रशासक पॉल ब्रेमर ने कहा है कि इराक़ की वर्तमान स्थिति के ज़िम्मेदार अमरीका के वर्तमान राष्ट्रपति हैं। पॉल ब्रेमर ने दावा किया कि इराक़ की मौजूदा हालत ओबामा के इस देश से 2011 में अमरीकी सैनिकों को बाहर निकालने के फ़ैसले की वजह है। अलआलम टीवी चैनल के अनुसार, पॉल ब्रेमर ने सीएनएन से बातचीत में कहा कि उनके हिसाब में इराक़ में तीन अहम काम करने चाहिए। पहला यह कि हवाई हमले के दायरे को और ज़्यादा बढ़ा दिया जाए। इस वक़्त लगभग 14 हवाई हमले हो रहे हैं। क्योंकि हमलों में भाग लेने वाले तीन चौथाई विमान अपने लक्ष्य पर बमबारी किए बग़ैर ही लौट आते हैं। पॉल ब्रेमर ने कहा कि दूसरा काम यह है कि ज़मीन पर हमारे जासूस होने चाहिए जो हवाई हमलों मे सटीक लक्ष्यों को तलाशने में हमारी मदद करें। उन्होंने कहा की तीसरा काम यह है कि इराक़ में सुन्नी और कुर्द क़बीलों को हथियार दिये जाएं। इराक़ में अमरीका के पूर्व प्रशासक पॉल ब्रेमर ने कहा कि हमें अमरीकी राष्ट्रपति के लक्ष्य को व्यवहारिक बनाने यानी आईएसआईएल को हराने और नाबूद करने की कोशिश करनी चाहिए। ब्रेमर के अनुसार दुनियावालों के सामने इस गुट को पराजित होना चाहिए क्योंकि इस समय अमरीका की साख और इज़्ज़त दांव पर लगी हुई है। पॉल ब्रेमर ने इराक़ में उनके प्रशासन काल के दौरान उन पर इराक़ी सेना को भंग करने से संबंधित आरोप के बारे में कहा कि अलक़ाएदा इराक़ में उस इराक़ी सेना के हाथों पराजित हुआ जिसे अमरीकियों ने ट्रेनिंग दी थी। 2009 में इराक़ में अलक़ाएदा का अंत हो गया था। जिस वक़्त ओबामा राष्ट्रपति बने उन्होंने इस बात को माना क्योंकि उन्होंने कहा था कि एक स्थिर व प्रजातांत्रिक इराक़ की फ़ाइल उनके हवाले की गयी है। पॉल ब्रेमर ने दावा किया कि वर्तमान समय में इराक़ की सबसे बड़ी समस्या की वजह और कुछ ही बल्कि ओबामा का वह फैसला है जिसके अन्तर्गत 2011 में अमरीकी राष्ट्रपति ने सभी अमरीकी सैनिकों को इराक़ से बाहर निकालने का निर्णय लिया था। पॉल ब्रेमर ने कहा कि इराक़ में अस्थिरता, ओबामा के फ़ैसले का नतीजा है जो बहुत बड़ी ग़लती थी। पाल ब्रेमर ने यह दावा एसी स्थिति में किया है कि जब मध्यपूर्व और इराक़ के मामलों के विशेषज्ञों का मानना है कि इराक़ में सक्रिय आतंकवादियों को अमरीका का सपोर्ट हासिल है जिसका मक़सद इराक़ में अमरीका की उपस्थिति का औचित्य दर्शाना है। ............... तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :