Wed - 2018 June 20
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 75605
Date of publication : 30/5/2015 20:11
Hit : 281

सउदी ने अब्दुल्लाह सालेह को रिश्वत लेने के लिए उकसाया

यमन के पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्लाह सालेह ने कहा है कि सउदी अधिकारियों ने अंसारुल्लाह आंदोलन के ख़िलाफ़ उन्हें अपने साथ करने के लिए रिश्वत देने की कोशिश की।


विलायत पोर्टलः यमन के पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्लाह सालेह ने कहा है कि सउदी अधिकारियों ने अंसारुल्लाह आंदोलन के ख़िलाफ़ उन्हें अपने साथ करने के लिए रिश्वत देने की कोशिश की। अब्दुल्लाह सालेह ने लेबनानी टीवी चैनल अलमयादीन से इंटर्व्यू में जो शुक्रवार को प्रसारित हुआ, कहा, “यमन में सउदी अरब के पूर्व राजदूत मेरे पास शाही शासन का संदेश लाए जिसमें मुझसे हौसियों के ख़िलाफ़ हादी का साथ देने की मांग की।” अब्दुल्लाह सालेह की ज़बानीः “उन्होंने मुझसे कहा कि अगर में उनका साथ दूं तो वे मुझे मिलियनों डॉलर देंगे।” यमन के पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्लाह सालेह ने कहा कि उन्होंने यमन में सभी राजनैतिक शक्तियों और राष्ट्रीय एकता के लिए इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया। उन्होंने कहा कि जब वे सत्ता में थे उस वक़्त हौसियों और उनकी पार्टी के बीच प्रशासन के विषय पर मतभेद थे। उन्होंने कहा कि हौसियों के साथ उनका मतभेद प्रशासनिक है न कि वैचारिक। अब्दुल्लाह सालेह ने यमन में विद्रोह भड़काने की कोशिशों के कारण सउदी शासन की निन्दा की। उन्होंने कहा कि रियाज़ सांप्रदायिक तरफ़दारी के कारण अंसारुल्लाह फ़ाइटर्ज़ से नफ़रत करता है। उन्होंने बल दिया कि मंसूर हादी को सत्ता में लाने की सउदी अरब की कोशिश नाकाम होकर रहेगी। ज्ञात रहे सउदी अरब ने संयुक्त राष्ट्र संघ की इजाज़त के बिना 26 को यमन के ख़िलाफ़ फ़ौजी हमला शुरु किया ताकि अंसारुल्लाह आंदोलन को कमज़ोर करके यमन के फ़रारी पूर्व राष्ट्रपति अब्द रब्बोह मंसूर हादी को सत्ता में ले आए। संयुक्त राष्ट्र संघ का कहना है कि मार्च से यमन पर सउदी अरब के हमले में अब तक 2000 बेगुनाह लोग मारे गए और 7330 अन्य घायल हुए हालांकि यमन के फ़्रीडम हाउस फ़ाउंडेशन का कहना है कि सउदी अरब के अतिक्रमणकारी हवाई हमलों में बेगुनाह मरने वाली यमनी नागरिकों की संख्या 4000 के क़रीब पहुंच चुकी है। ............... तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :