Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 75306
Date of publication : 26/5/2015 18:35
Hit : 264

ख़त्म होगा हिंसा का दौर और समझदारी के साथ तय होंगी विकास की राहें

इस्लामी गणतंत्र ईरान के राष्ट्रपति ने कहा है कि ईरान की वार्ताकार टीम अपने जायज़ और क़ानूनी अधिकारों को हासिल करने के लिए कोशिश में लगे हैं।


विलायत पोर्टलः इस्लामी रिपब्लिक ईरान के राष्ट्रपति ने कहा है कि ईरान की वार्ताकार टीम अपने वैध और क़ानूनी अधिकारों को हासिल करने के लिए कोशिश में लगे हैं।
डा. हसन रूहानी ने मंगलवार को मलार्द में भारी जनता को संबोधित करते हुए कहा कि ईरान की वार्ताकार टीम, राष्ट्र के अधिकारों की प्राप्ति के लिए दिन प्रतिदिन सख़्त कार्यवाहियां कर रही है। उन्होंने कहा कि ईरानी राष्ट्र दुनिया के साथ सार्थक संबंध और सहयोग तथा शांति और आपसी मेल-जोल का इच्छुक है।
डाक्टर हसन रूहानी ने कहा कि अब हिंसा और चरमपंथ का दौर ख़त्म होने वाला है और सब को मिलकर समझदारी और सूझ-बूझ के साथ अपने भविष्य यानी विकास और प्रगति के मार्ग को तय करना चाहिए। राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा कि ईरान, दुनिया के साथ अपने मामलों को बुद्धि और तर्क द्वारा हल किए जाने पर दृढ़ संकल्पित है।
................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....