Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 75163
Date of publication : 24/5/2015 18:28
Hit : 317

ईरान ने सीमा में घुसते हुए आतंकियों को खदेड़ा

इस्लामी गणतंत्र ईरान की थलसेना के प्रमुख ने अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान में आईएसआईएल की उपस्थिति की ओर संकेत करते हुए कहा कि ईरान में अशांति फैलाने के प्रयास किए जा रहे थे।


विलायत पोर्टलः इस्लामी गणतंत्र ईरान की थलसेना के प्रमुख ने अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान में आईएसआईएल की उपस्थिति की ओर संकेत करते हुए कहा कि ईरान में अशांति फैलाने के प्रयास किए जा रहे थे।
जनरल पूर दस्तान ने थल सेना को अधिक से अधिक सशक्त बनाने पर बल दिया।  जनरल पूर दस्तान ने रविवार को संसद की खुली बैठक में कहा कि इस समय हमें कुछ नई चुनौतियों का सामना है। थलसेना प्रमुख ने कहा कि तकफ़ीरी आतंकवादी हमारी सीमा के निकट सक्रिय हैं।  उन्होंने कहा कि पिछले साल आजकल के दिनों में ही सूचना दी गई थी कि आईएसआईएल के आतंकवादी, जलूला सअदिया के निकट पहुंचे हैं और उसके बाद उनका अगला लक्ष्य, ख़ानक़ैन है जिसके बाद वे ईरान में घुसने का प्रयास करेंगे। 
ईरान के थलसेना प्रमुख ने कहा कि हमने तीन दिनों से भी कम समय में 5 बटालियनें भेजीं और सीमा के उस पार गतिविधियां आरंभ कीं।  उन्होंने कहा कि हमारे सैनिक और हैलिकाप्टर शत्रु के बारे में जानकारी एकत्रित करने के लिए इराक़ की सीमा में दाखिल हुए और लगभग 40 किलोमीटर अंदर तक प्रवेश किया।
उन्होंने ये भी कहा कि घटना घटित होने के साथ शिया और सुन्नी दोनो धर्मगुरूओं ने आईएसआईएल से मुक़ाबले के बारे में फ़तवे दिये जो इस आतंकवादी गुट के पीछे हटने का कारण बने।
ईरान के थलसेना प्रमुख ने कहा कि मैं आपके सामने ये बात स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि इस समय हम अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान में आईएसआईएल को देख रहे हैं जो अपने आप को पूर्ण रूप से तैयार कर रहे हैं।
................
तेहरान रेडियो 


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....