Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 75091
Date of publication : 23/5/2015 18:51
Hit : 672

सऊदी अरब सीमा पर यमनी सेना ने बनाई पकड़।

यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन ने सऊदी अरब के दक्षिण-पश्चिमी इलाक़े जीज़ान की तुवाल पहाड़ियों को अपने कंट्रोल में ले लिया है।


विलायत पोर्टलः यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन ने सऊदी अरब के दक्षिण-पश्चिमी इलाक़े जीज़ान की तुवाल पहाड़ियों को अपने कंट्रोल में ले लिया है।
यमन के अलमसीरह टीवी चैनल के अनुसार, अंसारुल्लाह आंदोलन के लड़ाके और यमनी सेना के जवान गुरुवार को यमन की सीमा के निकट इस पहाड़ी इलाक़े में दाख़िल हुए और सउदी सेना के अनेक सैन्य वाहनों और गोलाबारुद के भंडार को तबाह कर दिया।
इस रिपोर्ट के अनुसार सऊदी सैनिक इस इलाक़े से पीछे हटने पर मजबूर हुए।
इसके अलावा भी अलमसीरह टीवी चैनल ने एक अन्य रिपोर्ट में बताया कि सउदी अरब के दक्षिण में स्थित सीमावर्ती शहर नजरान और दहरान अलजुनूब में सैन्य छावनियों पर यमनी क़बायलियों द्वारा रॉकेट हमले में कम से कम 18 सऊदी सैनिक मारे गए। सउदी अधिकारियों ने अभी तक इस ख़बर पर कोई टिप्पणी नहीं की है।
इससे पहले बुधवार को एक सउदी सैनिक हसन सुमैली जीज़ान में अंसारुल्लाह आंदोलन के जवानों के साथ सीमापार झड़प में मारा गया।
सउदी अरब के सीमावर्ती इलाक़े पर इस महीने के आरंभ में हमले उस वक़्त शुरु हुए जब सउदी अरब ने पड़ोसी देश यमन पर कई हफ़्तों से हमले जारी रखे थे। यमनी सेना की जवाबी कार्यवाही में अब तक दर्जनों सउदी सैनिक हताहत और घायल हुए हैं।
..........
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....