Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 74994
Date of publication : 22/5/2015 13:25
Hit : 347

इराक़ः अल-अंबार के अलबगदादी शहर के एक महत्वपूर्ण क्षेत्र पर सेना का क़ब्ज़ा।

इराक़ में सेना और स्वयंसेवकों ने अल-अंबार प्रांत के अलबगदादी शहर के एक क्षेत्र को आतंकवादियों के कब्जे से मुक्त करा लिया है।


विलायत पोर्टलः इराक़ में सेना और स्वयंसेवकों ने अल-अंबार प्रांत के अलबगदादी शहर के एक क्षेत्र को आतंकवादियों के कब्जे से मुक्त करा लिया है।

अल-आलम टीवी चैनल के हवाले से मिली रिपोर्ट के अनुसार इराकी सेना और स्वयंसेवकों ने इराक़ के पश्चिमी प्रांत अल-अंबार के अलबगदादी शहर के एक महत्वपूर्ण क्षेत्र “जिबह” को तकफीरी आतंकवादी गिरोह आईएस के कब्जे से मुक्त करा लिया है। इराकी सेना और स्वयंसेवकों की संयुक्त कार्रवाई में पंद्रह आतंकवादी मारे गए और उनके वाहनों को नष्ट कर दिया गया। उधर "शहीद सद्र फोर्स" पूर्वी अल-रेमादी के अलकरमः क्षेत्र में लगातार प्रगति कर रही है

सूचना के अनुसार "शहीद सद्र फोर्स" ने एक टैंकर बम को निष्क्रिय कर दिया और आतंकवादियों के हथियारों के चार गोदामों को नष्ट कर दिया जबकि अहले हक़ ब्रिगेड ने घोषणा की है कि उन्होंने अल-अंबार की स्वतंत्रता के आप्रेशन में भाग लेने के लिए एक हजार प्रशिक्षित लोगों को भेजा है। इस बीच इराकी सेना और स्वयंसेवक बल से जुड़े दस हजार जवानों को अल-अंबार प्रांत और बाबुल की सीमाओं पर तैनात कर दिया गया है। दूसरी ओर अल-अंबार में आईएस के डर से अपना घर बार छोड़ आने वाले हजारों लोगों को राजधानी बग़दाद के अस्थायी शिविरों में बसाया जा रहा है।

 


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

बहादुर ख़ानदान की बहादुर ख़ातून यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची