Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 73194
Date of publication : 19/4/2015 19:25
Hit : 490

आईएसआईएल से निपटने में आयतुल्लाह सीस्तानी की महत्वपूर्ण भूमिका।

इराक़ के स्वयंसेवी संगठन बद्र के महासचिव ने देश में आतंकी संगठन आईएसआईएल से मुक़ाबले में मरजेईयत की भूमिका को अत्यंत प्रभावी एवं महत्वपूर्ण बताया है।
विलायत पोर्टलः इराक़ के स्वयंसेवी संगठन बद्र के महासचिव ने देश में आतंकी संगठन आईएसआईएल से मुक़ाबले में मरजेईयत की भूमिका को अत्यंत प्रभावी एवं महत्वपूर्ण बताया है। हादी अलआमेरी ने ईरान के कैहान समाचारपत्र को दिए गए इंटरव्यू में कहा कि इराक़ी युवाओं ने अपने देश की रक्षा और आतंकवादियों से मुक़ाबले के लिए शिया मरजा-ए-तकलीद आयतुल्लाहिल उज़मा सीस्तानी के आदेशों का पालन किया और मैदान में उतर आए। उन्होंने बताया कि इराक़ में शिया व सुन्नी सभी आईएसआईएल से लड़ने के लिए एकजुट हो गए हैं। इराक़ के स्वयंसेवी संगठन बद्र के महासचिव ने कहा कि जनता को एकजुट करने में आयतुल्लाह सीस्तानी की सिफ़ारिशें बहुत प्रभावी रही हैं और इसी के परिणाम स्वरूप आतंकियों से मुक़ाबले के लिए स्वयंसेवी बल में व्यापक रूप से लोग शामिल हुए हैं। हादी अलआमेरी ने इसी प्रकार कहा कि आतंकी गुट आईएसआईएल अमरीका की अवैध औलाद है और इराक़ी जनता किसी भी रूप में अपने देश के आंतरिक मामलों में वाइट हाउस और वॉशिंग्टन के घटकों के हस्तक्षेप को सहन नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में इस्लामी रिपब्लिक ईरान और इराक़ के सभी प्रयास, आईएसआईएल के विरुद्ध हैं क्योंकि कैंसर का यह फोड़ा, सभी क्षेत्रीय देशों के लिए ख़तरनाक है।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई