Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 72782
Date of publication : 12/4/2015 23:43
Hit : 576

आयतुल्लाह ख़ामेनई ने दी सऊदी अरब को चेतावनी।

इस्लामी इंक़ेलाब के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई ने हज़रत फ़ातिमा ज़हरा सलामुल्लाह अलैहा के जन्मदिवस के अवसर पर महिलाओं, अहलेबैत अलैहिमुस्सलाम से निष्ठा रखने वाले शाएरों और वक्ताओं से मुलाकात में रसूले इस्लाम स.अ. की बेटी के जन्मदिवस की बधाई दी और परमाणु वार्ता और यमन की घटनाओं के सिलसिले मैं महत्वपूर्ण बाते बयान कीं।

विलायत पोर्टलः इस्लामी इंक़ेलाब के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई ने हज़रत फ़ातिमा ज़हरा सलामुल्लाह अलैहा के जन्मदिवस के अवसर पर महिलाओं, अहलेबैत अलैहिमुस्सलाम से निष्ठा रखने वाले शाएरों और वक्ताओं से मुलाकात में रसूले इस्लाम स.अ. की बेटी के जन्मदिवस की बधाई दी और परमाणु वार्ता और यमन की घटनाओं के सिलसिले मैं महत्वपूर्ण बाते बयान कीं।

सुप्रीम लीडर ने अपनी बात की शुरूआत में कहा कि कुछ लोग यह सवाल कर रहे हैं कि सुप्रीम लीडर ने हालिया परमाणु वार्ता के संबंध में अपना पक्ष क्यों बयान नहीं किया। आपने कहा कि मेरी ओर से किसी पक्ष को बयान न किए जाने का कारण यह है कि किसी पक्ष के बयान की जरूरत ही नहीं है क्योंकि देश के अधिकारियों और परमाणु मामलों के जिम्मेदार लोग यह कह रहे हैं कि अभी कोई क्रियात्मक काम अंजाम ही नहीं पाया है और दोनों पक्षों के बीच कोई भी विषय लागू होने की हद तक नहीं पहुंचा है।

सुप्रीम लीडर ने कहा कि ऐसी स्थिति में किसी पक्ष के बयान की जरूरत ही नहीं है। आपने कहा अगर मुझसे यह पूछा जाए कि आप हालिया परमाणु वार्ता से सहमत हैं यह उसके विरोधी? तो मैं यही कहूंगा कि न सहमत हूं और न विरोधी, क्योंकि अभी कुछ हुआ ही नहीं है।

आयतुल्लाहिल उज़मा ख़ामेनई ने कहा कि सारी मुश्किलों की शुरुआत वहां से होगी जहां विवरण और आंशिक मामलों के बारे में चर्चा शुरू होगी क्योंकि प्रतिद्वंद्वी पक्ष जिद्दी, वादा तोड़ने वाला, बेईमान और पीठ में चाक़ू घोंपने वाला है और अति संभव है कि चर्चा शुरू होने के बाद देश, राष्ट्र और वार्ताकारों को घेरने की कोशिश की जाए।

आपने कहा अब तक जो कुछ हुआ है उससे न तो समझौते की, न ही समझौते पर समापन होने वाली वार्ता की और न ही समझौते की फैक्टशीट की, किसी भी चीज की गारंटी नहीं मिलती इसलिए बधाई देने का कोई अर्थ नहीं है।



आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

ईरान को झुकाने की हसरत अपनी क़ब्रों में ले जाना : आईआरजीसी हिज़्बुल्लाह के साथ खड़ा है लेबनान का क्रिश्चियन समाज : इलियास मुर्र ओमान के आसमान में उड़ान भरेंगे इस्राईल के विमान ज़ायोनी आतंक, पोस्टर लगा कर दी फ़िलिस्तीनी राष्ट्रपति की हत्या की सुपारी । महिलाओं के अधिकार, इस्लाम और आधुनिक सभ्यता की निगाह में ईरान पर कोई प्रभाव नहीं ड़ाल पाएंगे अमेरिकी प्रतिबंध : स्ट्रैटफोर सऊदी हमलों की मार झेल रहे यमन में 2 करोड़ लोग भूख से प्रभावित,लाखों बच्चों की मौत अवैध राष्ट्र के गठन के 30 साल पहले से ज़ायोनी मूवमेंट के लिए काम कर रहे हैं आले सऊद : इस्राईली सांसद स्नूकर प्लेयर ने इस्राईली खिलाड़ी के साथ खेलने से किया इंकार हिज़्बुल्लाह के ख़िलाफ़ इस्राईल ने कोई क़दम उठाया तो पूरा मिडिल ईस्ट सुलग जाएगा : नेशनल इंटरेस्ट यूरोप ईरान के साथ वैज्ञानिक और आर्थिक सहयोग बढ़ाने को उत्सुक : जर्मनी अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे