Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 72760
Date of publication : 12/4/2015 17:30
Hit : 371

यमन पर आले सऊद की आक्रामकता, सत्रहवें दिन भी जारी रही।

आले सऊद के तथाकथित गठबंधन के प्रवक्ता अहमद अलअसीरी ने शनिवार की रात कहा कि यमन में हमलों को सत्रह दिन हो रहे हैं।


विलायत पोर्टलः रिपोर्ट के अनुसार आले सऊद के तथाकथित गठबंधन के प्रवक्ता अहमद अलअसीरी ने शनिवार की रात कहा कि यमन में हमलों को सत्रह दिन हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यमन पर हमले जारी रहेंगे आले सऊद के गठबंधन के प्रवक्ता ने कहा कि यमन पर हवाई हमलों का उद्देश्य यमनी सेना की एंटी एयरक्राफ़्ट क्षमता और बैलिस्टिक मिसाइलों के अड्डों को नष्ट करना है। अलअसीरी ने आले सऊद के हमलों में मरने वाले नौ सौ लोगों की ओर इशारा किए बिना कहा कि आले सऊद और उसके सहयोगियों के हमले सैन्य इकाइयों, अदन शहर और शिबवह में सैनिक अड्डों पर केंद्रित रहे हैं और एक दिन में अधिकतम एक सौ बीस हमले किए गए हैं। उधर यमन के सूत्रों ने कहा है कि पिछले चौबीस घंटों के दौरान आले सऊद की आक्रामकता में सनआ, अलजौफ और मआरिब के रिहायशी इलाकों को निशाना बनाया गया जिसमें कम से कम पंद्रह लोग शहीद और तीस घायल हुए हैं। दूसरी ओर सनआ में रूस के दूतावास के प्रवक्ता का कहना है कि इस शहर में रूस का कांसलेट बंद कर दिया गया है और इसके कर्मचारियों मास्को रवाना हो गए हैं।

रूस ने पिछले सप्ताह अदन में अपना कांसलेट बंद कर दिया था और अपने कर्मचारियों को अदन से निकाल लिया था। सऊदी अरब के हमलों में अदन में रूसी वाणिज्य दूतावास को नुकसान पहुंचा है। उधर ख़बर है कि मिस्र की सेना का पहला दल यमन पर हमलों के लिहाज़ से सऊदी अरब तक पहुँच गया है। प्रेस टीवी की रिपोर्ट के अनुसार पांच हजार मिस्री सैनिकों पर आधारित स्पेशल आप्रेशन दल सऊदी अरब पहुंचा है और उन्हें जीज़ान और नजरान शहरों में तैनात किया गया है। जबकि सऊदी अरब में अभी 48 हहज़ार मिस्री सैनिक जाएंगे इस रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब इसी अस्सी हजार सैनिकों के साथ यमन पर जमीनी हमले की तैयारी कर रहा है।

संयुक्त अरब अमीरात के सोलह हजार, कतर और कुवैत के सात सात हजार और बहरैन के पांच हजार सैनिक इस ज़मीनी हमले में भाग लेंगे। राजनीतिक और सैन्य मामलों के विशेषज्ञों का कहना है कि सऊदी अरब दो सप्ताह के बाद यमन पर जमीनी हमले शुरू कर सकता है। यमन और संयुक्त राष्ट्र के अधिकारियों के अनुसार यमन पर आले सऊद की सत्रह दिन के हवाई आक्रमण में कम से कम नौ सौ लोग मारे और हजारों घायल हुए हैं। हताहत और घायल होने वालों में ज्यादातर आम नागरिक, महिलाएं और बच्चे शामिल हैं आले सऊद और उसके सहयोगियों के बर्बर हमलों में लाखों लोग बेघर भी हो चुके हैं।



आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....