Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 72372
Date of publication : 6/4/2015 16:12
Hit : 482

बहरैन, ऑले खलीफा के हाथों उल्मा की गिरफ्तारी का सिलसिला जारी।

बहरैन के ख़ुफ़िया अधिकारियों ने शिया मौलाना सादिक अल मालिकी से चार घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया।


विलायत पोर्टलः रिपोर्टों के अनुसार बहरैन के ख़ुफ़िया अधिकारियों ने शिया मौलाना सादिक अल मालिकी से चार घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया। बहरैनी मानवाधिकार संगठनों ने इस खबर के सामने आने के बाद घोषणा की कि उनकी गिरफ्तारी और उन पर लगाए गये आरोपों के बारे में कोई खबर सामने नहीं आई है। यह ऐसी स्थिति में है कि बहरैन की अलविफ़ाक इस्लामिक पार्टी ने कल घोषणा की थी कि अलविफ़ाक के प्रमुख शेख अली सलमान की गिरफ्तारी को सौ दिन पूरे हो चुके हैं।

अलविफ़ाक ने बयान की आजादी, शेख अली सलमान की ओर से बहरैनी राष्ट्र की स्वतंत्रता, सभी के साथ समान व्यवहार और न्याय की मांग को उनकी गिरफ्तारी की वजह बताया है। शेख अली सलमान के मामले की तीन सुनवाइयों और उनकी तत्काल स्वतंत्रता पर वैश्विक संगठनों की ताकीद के बावजूद शेख अली सलमान अब तक हिरासत में हैं।

चौदह फ़रवरी 2011 में बहरैन के सार्वजनिक क्रांतिकारी आंदोलन शुरू होने के बाद से इस देश में उल्मा की गिरफ्तारी और विरोध प्रदर्शनों का सिलसिला जारी है। बहरैनी जनता, देश में लोकतांत्रिक सरकार की स्थापना, जातीय भेदभाव की समाप्ति और न्याय की मांग कर रहे हैं।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती